महिलाओं ने हाथों में डंडे और पत्थर उठा पुलिस के सामने शराब दुकान में कर डाली तोड़फोड़

सीहोर,सीहोर जिले में भी शराब का विरोध तेज हो गया है। आष्टा तहसील के समीपस्थ ग्राम भीमपुरा में बड़ी तादात में ग्रामीण महिलाएं एकत्रित होकर ग्राम में चल रही शराब दुकान को हटाने के लिए नारेबाजी करती हुई आईं। आक्रोशित महिलाओं ने हाथों में डंडे और पत्थर उठा लिए। महिलाओं ने पुलिस की मौजूदगी में ही शराब दुकान में तोड़फोड़ शुरू कर दी। शराब दुकान कर्मचारी महिलाओं का गुस्सा देख जान बचाकर भाग खड़े हुए।करीब 2 घण्टे तक यहां गदर मचता रहा।
बाद में आष्टा तहसीलदार मौके पर पहुंचे और महिलाओं को समझने का प्रयास किया,लेकिन शराब दुकान हटाने की जिद पर अड़ी महिलाओं ने तहसीलदार की भी एक नही सुनी और जमकर नारेबाजी करती रही। आष्टा तहसील का ग्राम भीमपुरा शहर से लगा हुआ है। ग्राम के मुख्य सड़क मार्ग पर बीते कई सालों से एक कलारी संचालित हो रही है। इस शराब दुकान को हटाने के लिए ग्रामीण महिलाओं ने हाल ही में जिला कलेक्टर सहित स्थानीय प्रशासन को ज्ञापन सौपा था। साथ ही अल्टीमेटम दिया था कि दुकान नहीं हटाई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। रविवार को सुबह 10.30 बजे बड़ी तादात में महिलाएं इकठी हुई और नारेबाजी करते हुए हाथों में डंडे लेकर ग्राम में चल रही शराब दुकान पर पहुंची औरर तोड़फोड़ करना शुरू कर दिया। घटना की सूचना के बाद स्थानीय पुलिस बल बड़ी संख्या में पहुंच गया,लेकिन पुलिस की उपस्थिति में ही महिलाएं शराब दुकान में तोड़फोड़ करती रही। घटना की सूचना जैसे ही आष्टा तहसीलदार महेश अग्रवाल को लगी वह पुलिस बल के साथ मौके पर आाह्यशित महिलाओं को समझाइश देने पहुचे,लेकिन महिलाओं ने एक नही सुनी और जमकर नारेबाजी करने लगी। महिलाओं सहित ग्रामीणों का कहना है कि अविलंब ग्राम की कलारी हटाई जाए नहीं तो इसी तरह उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। लंबे समय तक आष्टा तहसीलदार ने आाह्यशित महिलाओं को समझने का प्रयास किया ,लेकिन महिलाओं के आगे प्रशासन भी बेबस नजर आ राह था। घटना के दौरान शराब दुकान हटाने का विरोध कर रही महिलाओं ने पथराव कर दिया। इस घटना में कुछ पुलिस कर्मियों को चोट आने की जानकारी भी सामने आ रही है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *