सतना में पेपर लीक होने से परीक्षा निरस्त,डीईओ निलंबित

भोपाल,राज्य विधान सभा के 21 फरवरी से शुरू हुए बजट सत्र की अब तक की बैठकों में आज पहला अवसर था कि विपक्षी सदस्यों ने सदन से दो अवसरों पर बहिर्गमन किया। प्रश्नोत्तर काल में वे संबंधित विभाग के मंत्रियों के जवाब से संतुष्ट नहीं थे।
इसी के साथ स्कूल शिक्षा विभाग के मंत्री कुंवर विजय शाह ने सतना जिले में परीक्षा प्रश्न-पत्र लीक होने पर कक्षा 9वीं एवं 11वीं की आगामी परीक्षाएं निरस्त किए जाने की आज सदन में घोषणा की।
इस मामले में सतना के जिला शिक्षा अधिकारी को निलम्बित किए जाने की घोषणा करते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री ने अपने वक्तव्य में कहा कि इन परीक्षाओं का नया कार्यक्रम जल्दी ही घोषित किया जाएगा। सदन में आज कई अवसरों पर ठहाके लगे तो भारी शोर-शराबा भी हुआ।

किसानों को कितनी बिजली दे रहे? – मांगी सफाई
सदन में उस समय भी कुछ समय के लिए शोर-शराबा हुआ जब गिरीश भंडारी ने उर्जा मंत्री से जानना चाहा कि प्रदेश के किसानों के कितने घंटे बिजली उपलब्ध कराई जा रही है।
उनका कहना था कि मुख्यमंत्री और सरकार की ओर से कहा जाता है कि किसानों को 10 घंटे बिजली दे रहे हैं, लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है।
इस सवाल पर उर्जा मंत्री ने कहा कि कृषकों को 2 समूहों में विभक्त कर 6 घंटे और 4 घंटे कुल 10 घंटे बिजली दी जारही है। कांग्रेस के समय इतनी भी बिजली नहीं दी जाती थी। उनके इस जवाब से नाराज गिरीश भंडारी और रामनिवास रावत यह कहते सुने गए कि सरकार की कथनी करनी में अंतर है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *