आदिवासी और पारदी महिलाएं भिड़ी

गुना, दहशत के साए में जी रह रहे गुना जिले के गढ़लागिर्द गांव के लोगों का है कि डर पीछा ही नहीं छोड़ रहा. खौफ से छुटकारा पाने के लिए कलेक्ट़ेट की दहलीज पर पहुंचे लोगों पर वहीं ग्रामीणों पर पारदी समुदाय की महिलाओं ने आक्रमण कर दिया.
पत्थरबाजी से एक महिला घायल हो गई, जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. गौरतलब है कि 13 जनवरी को बजरंगगढ़ थाना क्षेत्र के गढ़लागिर्द गांव में दहशत का पर्याय बने शैतान पारदी को ग्रामीणों ने मौत के घाट उतार दिया था. तभी से पूरे गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है. पारदी समुदाय के जवाबी हमले से गांव के लोग घर से नहीं निकल पा रहे हैं इस दहशत से मुक्ति दिलाने की मांग को लेकर तकरीबन डेढ़ सौ ग्रामीण कलेक्ट्रेट पहुंचे थे. पहले से ही जनसुनवाई में मौजूद पारदी समुदाय की एक दर्जन महिलाओं को जैसे ही ये पता चला कि गढ़लागिर्द केे ग्रामीण कलेक्ट्रेट में हैं, वे हाथों में पत्थर लेकर कलेक्ट्रेट पहुंच गईं. उन्होंने ग्रामीणों पर पत्थर बरसाना शुरु कर दिया, जिसमें एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई. घटना की जानकारी मिलते ही भारी पुलिस बल कलेक्ट्रेट पहुंच गया और उसने सख्ती दिखाकर पारदी महिलाओं को खदेड़ दिया. पत्थरबाजी के चलते थोड़े समय के लिए कलेक्ट्रेट में कौतूहल का वातावरण बन गया था.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *