कलमाड़ी के बाद चौटाला सशर्त पद छोडऩे को तैयार

नई दिल्ली, सुरेश कलमाड़ी और अभय सिंह चौटाला को भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) द्वारा आजीवन अध्यक्ष बनाए जाने के बाद मचे विवाद के बीच अभय चौटाला ने भी पद छोडऩे की बात कही है. हालांकि इसमें उन्होंने अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक कमिटी को भी जोड़ लिया है. चौटाला ने कहा, यदि कोई ऐतराज है, तो मैं लाइफ प्रेजिडेंट पद को त्यागने को तैयार हूं. बता दें कि सुरेश कलमाडी अपनी नियुक्ति के बाद मचे विवाद के बाद ही यह पद स्वीकार न करने की बात कह चुके हैं.
उल्लेखनीय है कि आईओए द्वारा दागी नेताओं सुरेश कलमाड़ी और अभय चौटाला को आजीवन अध्यक्ष बनाए जाने पर केंद्र सरकार ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया था. खेल मंत्री विजय गोयल ने आईओए के इस फैसले पर कारण बताओ नोटिस जारी करने की बात कही थी. साथ ही, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जब तक इन दोनों दागी नेताओं की नियुक्ति को रद्द नहीं कर दिया जाता, तब तक सरकार आईओए को किसी तरह का सहयोग नहीं देगी. इसके बाद सुरेश कलमाडी ने इस पद को स्वीकार नहीं करने की बात कही थी. लेकिन अभय चौटाला ओलिंपिक खेलों में अपने दिए गए योगदान की बात कहकर अपनी नियुक्ति को जायज बता रहे थे.
गुरुवार को उन्होंने गेंद आईओसी के पाले में फेंक दी और कहा यदि आईओसी को उनकी नियुक्ति पर ऐतराज हो, तो वह अपना पद त्यागने को तैयार हैं. यानी साफ है कि अभय चौटाला इस पद को आसानी से त्यागने को तैयार नहीं है. उनकी इस नियुक्ति के बाद जब मीडिया और सरकार में इस पर ऐतराज जताया गया, तो उन्होंने यह दावा भी कर दिया कि उन्हीं की वजह से भारतीय खिलाड़ी मेडल्स जीत रहे हैं. इसके अलावा चौटाला ने कहा, उनके खिलाफ करप्शन और क्रिमनल नहीं बल्कि राजनीतिक केस दर्ज हैं. बता दें, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अभय चौटाला आय से अधिक संपत्ति के मामले में आरोपी हैं.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *