पाकिस्तान ने भारत से गार्ड और ड्राइवर बुलाकर बाघा बॉर्डर से छोड़ी समझौता एक्सप्रेस

नई दिल्ली/इस्लामाबाद, कश्मीर में धारा 370 को खत्म करने से बौखलाए पाकिस्तान ने बुधवार को भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम करने के कुछ ही देर समझौता एक्सप्रेस को वाघा बॉर्डर पर लाकर छोड़ दिया। साथ ही कहा कि अपना ड्राइवर और गार्ड भेजकर ट्रेन ले जाए। भारतीय रेलवे ने अपना ड्राइवर और गार्ड भेजकर ट्रेन ले आई है। पाकिस्तान द्वारा राजनयिक और द्विपक्षीय व्यापारिक संबंध खत्म करने पर भारत ने एक बार पुनर्विचार करने की अपील की है।
पाकिस्तान ने अपनी बौखलाहट लगातार दूसरे दिन भी जारी रखी। पाकिस्तान ने विदेशी विमानों के पाकिस्तान में उड़ान की ऊंचाई को बढ़ाकर 46 हजार फीट कर दिया है। इससे कम में कोई विमान नहीं उड़ पाएगा। यह नियम खासकर लाहौर और आसपास के क्षेत्र के लिए लागू किया गया है। साथ ही, एयरलाइन्स के हवाई मार्गों में भी बदलाव किए गए हैं। पाकिस्तान की सिविल एविएशन अथॉरिटी द्वारा जारी नोटिस टू एयरमैन (एनओटीएएमएस) के मुताबिक, एयरस्पेस 6 अगस्त से 5 सितंबर तक के लिए बंद रहेंगे। अफगानिस्तान से उड़ान भरने वाले जहाजों को वैकल्पिक मार्गों के इस्तेमाल करने का निर्देश दिया गया है। पाकिस्तान ने बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद 16 जुलाई को सभी विमानों के लिए खोला था।
कोई फर्क नहीं पड़ेगा : एआई
पाकिस्तान के एयरस्पेस बंद करने पर एयर इंडिया ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। वहीं, नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) ने सभी हवाई अड्डों पर सुरक्षा-व्यवस्था और कड़ी करने का निर्देश दिया है।
समझौता एक्सप्रेस बंद नहीं
पाकिस्तान ने समझौता एक्स्प्रेस को वाघा बॉर्डर पर ही छोड़ दिया है। भारतीय रेलवे ने गुरुवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस सेवा बंद नहीं की गई है। उत्तर रेलवे ने कहा कि पाकिस्तान के अधिकारियों ने सुरक्षा कारणों के चलते अपना चालक दल भेजने से इनकार कर दिया। इसके बाद भारत ने अपना ड्राइवर और इंजन पाकिस्तान भेजा और ट्रेन को भारत लाया। रिपोट्र्स के मुताबिक, गुरुवार को पाकिस्तान से समझौता एक्सप्रेस को वापस आना था। लेकिन, पाकिस्तान ने उसे वाघा बॉर्डर पर छोड़ दिया। पाकिस्तान ने भारत की सीमा में अपने गार्ड और ड्राइवर को भेजने से इनकार कर दिया था। उसने भारत से कहा कि वह अपना ड्राइवर और गार्ड भेजे।
संयुक्त राष्ट्र से लगाएगा गुहार
भारत से द्विपक्षीय रिश्तों और समझौतों की समीक्षा होगी। साथ ही पाकिस्तान इस मामले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में भी ले जाएगा। इमरान ने घाटी में मानवाधिकार उल्लंघन का मुद्दा दुनिया के सामने उठाने के लिए अपने सभी राजनयिक चैनलों को सक्रिय होने का निर्देश दिया है।
15 अगस्त को काला दिवस
पाकिस्तान ने 14 अगस्त को अपने स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीरियों के साथ एकजुटता दिखाने और 15 अगस्त को भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर काला दिवस मनाने की बात कही है।
पाकिस्तान संसद में प्रस्ताव
पाकिस्तानी संसद में बुधवार देर शाम को संयुक्त सत्र में भारत की निंदा करते हुए जम्मू-कश्मीर मुद्दे को बातचीत और अंतरराष्ट्रीय कानून से हल करने का प्रस्ताव पास हुआ।
पूर्व मंत्री लाल सिंह नजरबंद
– अब जम्मू के नेताओं पर एक्शन
अनुच्छेद 370 पर नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले के बाद जम्मू-कश्मीर में माहौल शांतिपूर्ण बना हुआ है। स्थानीय पुलिस ने एहतिहात के तौर पूर्व मंत्री और डोगरा स्वाभिमान संगठन पार्टी के अध्यक्ष चौधरी लाल सिंह को नजरबंद किया है। लाल सिंह पहले जम्मू के नेता हैं, जिन्हें नजरबंद किया गया है। लाल सिंह को जम्मू के गांधीनगर में उनके सरकारी आवास से निकलने की इजाजत नहीं है। जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने से पहले घाटी के नेताओं को नजरबंद किया गया था। इसमें महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला समेत अन्य नेताओं का नाम शामिल है।
आजाद को एयरपोर्ट पर रोका
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को गुरुवार को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक दिया गया। उनके साथ ही जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर को भी रोका गया। उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री आजाद हालात की जानकारी लेने और जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक करने वाले थे। आजाद ने एनएसए अजीत डोभाल के कश्मीरियों के साथ लंच करने पर कहा था कि पैसे देकर किसी को भी साथ लाया जा सकता है। डोभाल ने बुधवार को शोपियां में स्थानीय लोगों के साथ लंच किया और उनसे चर्चा की थी।
70 आतंकवादियों और अलगाववादियों को किया आगरा शिफ्ट
अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद वहां के हालात पर केंद्र सरकार लगातार नजर बनाए हुए है। जानकारी के अनुसार, गुरुवार को 70 आतंकवादियों और अलगाववादियों को वायुसेना के विशेष विमान से आगरा शिफ्ट किया गया। उधर, जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव ने राज्य के सभी सरकारी कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से काम पर लौटने का आदेश जारी किए हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के अतिरिक्त सचिव एसएम सहाय ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में राज्य से प्रतिबंधों को हटा लिया जाएगा।
घुसपैठ की फिराक में हैं आतंकी
– अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की हलचल बढ़ी
जम्मू-कश्मीर में बदले हालात के बीच मंगलवार रात को आरएसपुरा की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान क्षेत्र में उसके रेंजर्स की हलचल देखी गई। सीमावर्ती क्षेत्र के ग्रामीणों का कहना है कि पहले पाकिस्तान रेंजर्स की बॉर्डर पर तैनाती कम थी, पर बीती रात पाकिस्तान क्षेत्र में उसके रेंजर्स की हलचल देखी गई। रात के समय पाकिस्तान सीमा पर बड़े वाहनों की आवाज दूर तक सुनाई दी, जिससे लगता है कि उस ओर से बॉर्डर पर रेंजर्स की बढ़ोतरी की गई हो।
आत्मघाती हमले की फिराक में आतंकी
भारत द्वारा घाटी में सुरक्षा बलों की अतिरिक्त तैनाती के बाद पाकिस्तान में बैठे आतंकी जम्मू-कश्मीर में बड़े आत्मघाती हमले की फिराक में हैं। सूत्रों के मुताबिक, ये आतंकी पाकिस्तान के पेशावर और मुजफ्फराबाद में मौजूद हैं। ये आतंकी और पाकिस्तान का बैट दस्ता सीमा पर तैनात सेना के जवानों पर हमला करने की भी फिराक में हैं।
सुरक्षाबलों पर फिदायीन हमले का अलर्ट
अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी सुरक्षा बलों पर बड़ा हमला कर सकते हैं। पाकिस्तान अपनी खतरनाक मुजाहिद बटालियन का इस्तेमाल लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर भारतीय सुरक्षाबलों पर हमला करने के लिए कर सकती है। यह आतंकी हमला फिदायीन हो सकता है। इस खुफिया रिपोर्ट के सामने आने के बाद सुरक्षाबलों को अलर्ट रहने का निर्देश जारी किया गया है। एलओसी पर आतंकी और पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम भारत के सुरक्षाबलों को निशाना बना सकती है। पाकिस्तान सेना के साथ आतंकी लांच पैड में मौजूद हैं। पीओके में तीन जगहों पर भारी संख्या में आतंकी मौजूद हैं।
संघर्षविराम का उल्लंघन, दागे मोर्टार
जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा पर लगातार दूसरे दिन पाकिस्तानी जवानों ने सीजफायर का उल्लंंघन किया है। पाकिस्तान की ओर से सुंदरबनी सेक्टर में बुधवार देर रात गोलाबारी की और मोर्टार दागे। किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। भारतीय सेना के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *