रैगिंग से निपटने UGC  एप शुरू

नई दिल्ली,विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा ‘एंटी रैंगिंग मोबाइल एप’ की शुरूआत की गई है ।  एप्लिकेशन से छात्रों को रैगिंग की समस्या से निपटने में मदद मिलेगी। मंत्री प्रकाश जावड़ेकर  ने कहा कि इससे पहले रैगिंग की शिकायत दर्ज कराने के लिए वेबसाइट का सहारा लेना पड़ता था और हमारे रिकॉर्ड से पता चलता है कि समय पर की गई कार्रवाई से ऐसे मामलों में कमी आई थी, लेकिन अभी भी इस तरह की समस्याओं का पूरी तरह से सफाया करने की जरूरत है। जावडेकर ने कहा कि मेरी जानकारी के अनुसार कॉलेज परिसरों में अधिकतर सीनियर छात्र अपने जूनियर छात्रों की मदद करते हैं और उनका मार्गदर्शन करते हैं। लेकिन कुछ रैंगिंग के मामले भी आते हैं जिन्हें पूरी तरह से खत्म करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नए छात्र को दी जाने वाली मानसिक या शारीरिक यातना रैंगिंग है जिसकी अनुमति नहीं दी जायेगी, यह बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है और इसीलिए यह एप इस तरह के अनुभव से गुजरने वाले युवाओं के लिए एक कारगर माध्य के रूप में कार्य करेगा। यह एप एंड्रॉयड सिस्टम पर कार्य करेगा जहां छात्र तुरंत ही अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे। तदानुसार इस पर तुरंत कार्रवाई शुरू की जायेगी। सुरक्षा की दृष्टि से यह एक अच्छा कदम है और इससे छात्रों में सुरक्षा की भावना आयेगी। मंत्री  ने स्पष्ट किया कि जो भी रैंगिंग के मामलों में शामिल होंगे उन्हें बख्शा नहीं जायेगा और उन्हें उस संस्थान में अपनी पढ़ाई जारी करने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा उन्हें इसके लिए कानून के मुताबिक सजा भी दी जायेगी। मंत्री ने उम्मीद जताई कि सीनियर छात्र अपने जूनियर छात्रों के लिए एक मार्ग दर्शक के रूप में कार्य करेंगे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *