घाटी में फेसबुक, व्हाट्सअप समेत 22 सोशल साइट्स से बैन हटा

श्रीनगर,पिछले कुछ समय से घाटी में जारी पत्थरबाजी की घटना के बाद सरकार ने घाटी में सोशल मीडिया पर पूरी तरह बैंन कर दिया था इस बैंन को शनिवार से हट दिया गया है। जम्मू-कश्मीर सरकार ने घाटी में सोशल साइट्स को फिर से बहाल कर दिया है। यहां शनिवार से फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सअप समेत २२ सोशल साइट्स से बैन हटा लिया गया। सरकार की ओर से राष्ट्रविरोधी ताकतों को रोकने के लिए यह बैन अप्रैल में लगाया था। दरअसल पिछले कुछ दिनों से लगातार अशांत चल रहे जम्मू-कश्मीर में आतंकी सोशल मीडिया का सहारे अपने नापाक मंसूबों को अंजाम दे रहे थे। सेना के जवानों पर पत्थरबाजी की घटना भी सोशल मीडिया के जरिए ही कराई जा रही थी। जिसके बाद सरकार ने व्हाट्सअप समेत २२ सोशल साइट्स पर बैन लगा दिया था। सरकार की ओर से अभी तक इस बारे में कोई भी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है लेकिन शुक्रवार से यूजर्स सोशल मीडिया साइट्स को एक्सेस कर पा रहे हैं। राज्य सरकार की ओर से २६ अप्रैल को इन साइट्स को तब बैन किया गया जब मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक खास मीटिंग बुलाई थी।
सरकार की ओर से कहा गया इन साइट्स का प्रयोग घाटी में विवादित कंटेंट के सर्कुलेशन के लिए हो रहा है। इस कंटेंट के जरिए लोगों में प्रशासन और सुरक्षा बलों के खिलाफ गुस्सा भड़काया जा रहा है। सरकार का कहना था कि सोशल मीडिया की वजह से लोग बड़े स्तर पर अपराध कर रहे हैं और राज्य की शांति को भंग करने में लगे हैं। कश्मीर घाटी में हिंसा और विरोध प्रदर्शनों को रोकने के लिए अक्सर ही इंटरनेट को बंद कर दिया जाता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष २०१२ से लेकर २०१६ तक घाटी में ३१ बार इंटरनेट को ब्लॉक किया जा चुका है। लेकिन यह पहला मौका था जब सरकार की ओर से सोशल नेटवा\कग साइट्स को पूरी तरह से ही बैन कर दिया गया था।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *