शिव सरकार बेचेगी रेत,मुख्यमंत्री ने की घोषणा

भोपाल,नदियों को बचाने के शुरू किए गए नर्मदा सेवा यात्रा और नर्मदा सेवा मिशन के अंतर्गत सरकार ने पर्यावरण संरक्षण के लिए नए निर्णय लिए हैं। बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास पर वृक्षारोपण की वेबसाइट के लोकार्पण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि अब से मध्य प्रदेश सरकार रेत बेचेगी। नए निर्णय के अनुसार सरकार माइनिंग कॉरपोरेशन के जरिए रेत की बिक्री करेगी ताकि कीमतें नियंत्रण में रहे। रेत बेचने से सरकार को जो भी मुनाफा होगा वो मजदूरों में बोनस के रूप में बांटा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा दुनिया में मानव के अस्तित्व को बचाने का महाअभियान है। नर्मदा सेवा अभियान को अन्य नदियों पर भी लागू किया जायेगा। इसे पर्यावरण के अन्य क्षेत्रों में भी विस्तारित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि अभियान जनता का है, उसे ही आगे रहना होगा। अभियान में सरकार का पूरा सहयोग मिलेगा। उन्होंने कहा कि नदी पर्यावरण संरक्षण के इस महायज्ञ में आहूति देने के लिये आगे आयें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नदियों से वैज्ञानिक तरीके से रेत खनन की व्यवस्था की जाएगी। प्रदेश की खनन नीति को भी बदला जायेगा। रेत के मूल्य को नियंत्रित रखने की व्यवस्था की जायेगी। इसके साथ ही नदियों से हाथों से रेत निकाली जाएगी इससे मजदूरों को भी काम मिलेगा। नदी संरक्षण के लिए जो समिति बनाई गई है उसकी दिशा निर्देश के अनुसार ही रेत निकाली जाएगी। ताकि, नर्मदा के अलावा बाकी नदियों के भी जीव-जंतु सुरक्षित रहे। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में रेत उत्खनन प्रतिबंधित कर दिया गया है। वेबसाइट के लोकार्पण के अवसर पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, यह अभियान दुनिया का सबसे बड़ा अभियान बनेगा। यह नर्मदा को बचाने का अभियान है, जिससे देखते ही देखते सैकड़ों-हजारों लोग जुड़ गए है। नर्मदा को बचाने के लिए मेरा ये अभियान जारी रहेगा। मैं चाहता हूं कि इस वेबसाइट के जरिए लोग इस महाअभियान से जुड़े।
रोपे जाएंगे ६ करोड़ पौधे
नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गई घोषणा के अनुपालन में प्रदेश में २ जुलाई को वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके अंतर्गत नर्मदा बेसिन के जिलों में ६ करोड़ पौधे रोपे जाएंगे। आम लोगों की भागीदारी से होने वाले पौध-रोपण कार्यक्रम में पंजीयन के लिए सीएम ने बुधवार को मुख्यमंत्री निवास पर वेबसाइट का लोकार्पण किया।
जिसे पौधे रोपना है वे रजिस्ट्रेशन कराएं
जन-अभियान परिषद द्वारा तैयार की गई वेबसाइट पर २ जुलाई को पौध-रोपण करने के इच्छुक लोग पंजीयन करवा सकेंगे। इस दिन नर्मदा के दोनों तटों और कछार क्षेत्र में फलदार-छायादार पौधों का रोपण किया जाएगा।
मूल्य निर्धारित करेगा कॉर्पोरेशन
माइनिंग कार्पोरेशन रेत का मूल्य भी निर्धारित करेगा ताकि गरीबों को मकान बनाने के लिये सस्ती दर पर रेत की आसान उपलब्धता हो। ठेके से रेत उत्खनन व्यवस्था को बदला जायेगा।
ठेकेदारों का फायदा मजदूरों को देंगे
उत्खनन से मिलने वाला पैसा जो अभी चंद ठेकेदारों की जेब में जाता है, वह लाखों गरीब मजदूर परिवारों को मिलने लगेगा।
साधना सिंह ने कराया रजिस्ट्रेशन
इस मौके पर मुख्यमंत्री चौहान ने धर्मपत्नी साधना सिंह के साथ नर्मदा सेवा मिशन के प्रथम स्वयं सेवक के रूप में पर पंजीयन करवाया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *