त्रिपुरा में 151 हथगोले विशेषज्ञों ने निष्क्रिय किये

नई दिल्ली, त्रिपुरा पुलिस ने उत्तरी क्षेत्र में 150 से अधिक हथगोले बरामद किए हैं, जिन्हें सेना के विशेषज्ञों ने निक्रिय कर दिया है। बरामद किए गए हथगोले जमीन गाड़कर छुपाए गए थे।
पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले सप्ताह उत्तरी त्रिपुरा के गौरनगर में जमीन में गाड़कर छिपाए गए 151 हथगोलों को बरामद किया गया है। उत्तरी त्रिपुरा के उनोकोटि जिले के पुलिस प्रमुख अजीत प्रताप सिंह ने कहा कि मासिमपुर (दक्षिणी असम में सिलचर के निकट) स्थित सेना के डिविजनल मुख्यालय के विशेषज्ञ शुक्रवार को आए और उन्होंने सभी हथगोलों को निक्रिय कर दिया।
खेल रहे छात्रों को दिखे थे हथगोले
गौरनगर में केंद्रीय विद्यालय के निकट खेल रहे छात्रों को ये हथगोले दिखाई दिए थे। उन्होंने लोगों को इसकी जानकारी दी और उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और उसने जमीन खोदकर हथगोलों को बाहर निकाला।
स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि हो सकता कि इन हथगोलों को 1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के दौरान छिपाया गया होगा। तब यहां छह से सात सेक्टर थे, जहां प्रशिक्षण लेने के बाद बांग्लादेशी मुक्ति योद्धाओं ने पाकिस्तानी सैनिकों के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। बाद में यह संग्राम भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध में तब्दील हो गया था। उल्लेखनीय है कि बांग्लादेश की 856 किमी लंबी सीमा त्रिपुरा से लगी हुई है। हथगोलों के बारे में यही अंदेशा अब तक जाहिर किया गया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *