सीट के लिए निर्भया लेडी कॉप की हुई पिटाई

इटारसी, होशंगाबाद जिले के इटारसी थाना में पदस्थ एक महिला आरक्षक के साथ रविवार को ट्रेन में कुछ लोगों ने मारपीट की। महिला आरक्षक प्रदेश की निर्भया पेट्रोलिंग टीम में कार्यरत है। जानकारी के अनुसार पिटाई के बाद लोगों ने उन्हें चलती ट्रेन से नीचे फेंकने का प्रयास किया है।
शासकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) इटारसी के थाना प्रभारी बीएस चौहान ने बताया कि शहर थाना में पदस्थ प्रधान आरक्षक रेखा मुनिया भोपाल में जीटी एक्सप्रेस की एस-4 बोगी में बैठी थी। इसी बीच ओबेदुल्लागंज और बुदनी के बीच सीट पर बैठने को लेकर उनका दूसरे पक्ष से विवाद हो गया। विवाद के दौरान नागपुर निवासी जीतेन्द्र पटेल, मित्तल पटेल और एक अन्य ने उनके साथ मारपीट की और उन्हें ट्रेन से नीचे फेंकने का प्रयास भी किया।
तीन सदस्यों पर गाली-गलौज और जान से मारने की धमकी का मामला दर्ज
चौहान ने बताया कि घटना की सूचना रेलवे कंट्रोल से जीआरपी को दी गई। इसके बाद ग्रांट ट्रंक (जीटी) एक्सप्रेस में महिला आरक्षक से मारपीट करने वालों को इटारसी स्टेशन पर उतार लिया गया। पीड़ित महिला आरक्षक का मेडिकल कराया गया है। सभी पर मामला दर्ज किया जा रहा है। हेड कांस्टेबल रेखा मुनिया ने पुलिस को बताया कि वे और कांस्टेबल अनीता भोपाल स्टेशन से जीटी एक्सप्रेस के एस-4 कोच में चढ़ीं थी। वे दोनों इंदौर से आ रही थीं। कोच में झगड़ा सीट पर बैठने को लेकर हो रहा था। इस दौरान तीर्थयात्रा से लौट रहे 45 सदस्यों के जत्थे में शामिल नागपुर के गुजराती पटेल परिवार के लोगों ने उनके साथ मारपीट की। इनमें चार महिलाएं व पांच पुरुष शामिल थे। रेलवे पुलिस ने महिला कांस्टेबल के बयान पर नागपुर के एक ही परिवार के तीन सदस्यों जितेंद्र पटेल, मित्तल पटेल व महिला हेतल पटेल पर गाली-गलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया।
आरोपी परिवार की महिलाओं ने की उनकी न सुनने शिकायत
दूसरी ओर थाने में बैठे आरोपी परिवार की महिला सदस्य कोई सुनवाई न होने की शिकायत करती रहीं। इसी परिवार की एक किशोरी वंशिका ने जीआरपी प्रभारी बीएस चौहान से यह शिकायत की कि थाने में फरियादी महिला कांस्टेबल ने उसे नोंचा और थप्पड़ मारे। इस घटना के दौरान मौके पर अन्य पुलिसकर्मी भी मौजूद थे, लेकिन किसी ने रोका नहीं। दोपहर 12.15 बजे टिंबर व्यापारी भीमजी भाई पटेल अपने वकील अशोक शर्मा को लेकर जीआरपी थाने पहुंचे और आरोपी परिवार के तीनों सदस्यों को जमानत पर रिहा करवाया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *