विनोद खन्ना नहीं रहे,लम्बी बीमारी के बाद अस्पताल में ली अंतिम सांस

मुंबई, बालीबुड अभिनेता और भाजपा सांसद विनोद खन्ना का गुरुवार को निधन हो गया। वह 70 साल के थे। पिछले कुछ समय से वह बीमार चल रहे थे। बीमारी की स्थिति में उनकी कुछ फोटो हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। उन्होंने मुंबई के रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में अंतिम सांस ली।
सूत्रों के अनुसार विनोद खन्ना पिछले कुछ दिनों से कैंसर से परेशान थे। उन्हें 31 मार्च को भर्ती कराया गया था तब डाक्टरों ने कहा था कि इन्हें पानी की कमी हो गई है। जब विनोद खन्ना अस्पताल में थे, जब उनके बेटे राहुल खन्ना ने बताया था कि डैड बिल्कुल स्वस्थ हैं और उन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। वह गुरुदासपुर से भाजपा के सांसद थे।
विनोद खन्ना ने दो शादियां कीं। पहली पत्नी गीतांजलि थीं, जिनसे 1985 में तलाक हो गया। बाद में उन्होंने उन्होंने कविता से शादी की। उनके तीन बेटे अक्षय खन्ना, राहुल खन्ना और साक्षी खन्ना हैं। उनकी एक बेटी है, जिसका नाम श्रद्धा खन्ना है। विनोद खन्ना ने बॉलीवुड में वर्षों तक राज किया और 1998 के लोकसभा चुनावों के दौरान वह भाजपा से जुड़े और अपना पहला चुनाव गुरदासपुर से लड़कर सांसद बने। बाद में उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमंडल में पर्यटन और विदेश राज्य मंत्री बनाया गया। खन्ना 2014 का लोकसभा चुनाव भी गुरदासपुर से जीते थे। पिछले काफी दिनों से वह अपनी बीमारी के चलते राजनीति में सक्रिय नहीं दिखाई दे रहे थे। खन्ना के निधन पर बॉलीवुड में शोक की लहर है और कई अभिनेता-अभिनेत्री ट्वीट कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि व्यक्त कर रहे हैं। खन्ना का निधन पंजाब भाजपा के लिए भी एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है।
उनकी यादगार फिल्मों में मेरे अपन,कुर्बानी,पूरब और पश्चिम रेशमा और शेरा,हाथ की सफाई,हेरा फेरी, मुकद्दर का सिकंदर जैसी कई शानदार फिल्में की हैं। विनोद खन्ना का नाम ऐसे एक्टर्स में शुमार था जिन्होंने शुरुआत तो विलेन के किरदार से की थी लेकिन बाद में हीरो बन गए। विनोद खन्ना ने 1971 में सोलो लीड रोल में फिल्म ‘हम तुम और वो’ में काम किया था। विनोद खन्ना का जन्म 7 अक्टूबर, 1946 में पेशावर, पाकिस्तान में हुआ था लेकिन विभाजन के बाद इनका परिवार मुंबई आकर बस गया था। इनके पिता किशनचन्द्र खन्ना एक बिजनेसमैन रहे हैं और माता कमला खन्ना एक हाउसवाइफ रही है।
राजमाता विजयाराजे के जीवन पर बनी फिल्म ‘एक थी रानी ऐसी भी’ में हेमा मालिनी के साथ विनोद खन्ना की आखिरी फिल्म थी। इस फिल्म में अभिनेत्री एवं मथुरा लोकसभा सीट से भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने विजयाराजे की भूमिका निभाई है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *