धर्म से उपर है संगीत : येसुदास

नई दिल्ली, प्रतिष्ठित गायक पद्म विभूषण के जे येसुदास ने संगीत को सभी धर्मों से ऊपर बताया है। उनके मुताबिक माता -पिता के प्रति प्रेम और आदर के कारण ही वह अपनी जिंदगी में इस मुकाम पर पहुंचे और पद्म विभूषण सहित अन्य सभी सम्मान हासिल कर सके हैं। गायक के अनुसार संगीत सीखने के लिए एक जिंदगी काफी नहीं है। येसुदास कई दशकों से भारतीय शास्त्रीय संगीत के अलावा भक्ति एवं फिल्मी गीत गा रहे हैं। एक समारोह में येसुदास ने कहा कि मैं एक ईसाई परिवार से आता हूं लेकिन मेरे पिता ने मुझे धर्म से उपर उठकर देखना सिखाया। संगीत मेरे लिए एक समुद्र की तरह है और मुझे लगता है कि संगीत को पूरी तरह सीखने के लिए एक जीवन काफी नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारे समय में बच्चे माता-पिता से सवाल नहीं करते थे और सिर्फ उनकी सुनते थे। मुझे लगता है कि मेरे पिता के प्रति मेरी निष्ठा ने ही मुझे पद्म विभूषण दिलाया है। मेरे सभी गुरू जिनसे मैंने सीखा है उन सभी का मेरी जिंदगी में बड़ा योगदान है

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *