अमेरिका ने सीरियाई एयरबेस पर मिसाइलों से किया हमला

सिंगापुर, अमेरिका ने सीरिया के एयरबेस पर बडा हमला करते हुए दर्जनों मिसाइलें दाग डाली जिसके फौरन बाद तेल की कीमतों में शुक्रवार को करीब 1 डॉलर प्रति बैरल की वृद्वि देखी गई। इधर,हमले के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि सीरियाई एयरफील्ड पर मिसाइल से हमले के आदेश दिए गए हैं। यहां से इसी हफ्ते रासायनिक हथियार दागे गए थे। उन्होंने इसे अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में बताया है।
एैसी दिखी तेजी

तेल की कीमतों में उछाल

ब्रेंट क्रूड फ्यूचर्स में करीब 1 डॉलर प्रति बैरल की तेजी दिखाई दी। जिससे 2 फीसदी यानी यह 0237 जीएमटी पर 55.78 डॉलर प्रति बैरल पर रहा। उधर, यूएस का डब्ल्यूटीआई क्रूड फ्यूचर्स भी करीब 1 डॉलर प्रति बैरल उछल गया, यानी यह करीब 2 फीसदी की तेजी के साथ 52.64 डॉलर प्रति बैरल हो गया। मार्च के शुरुआती समय से लेकर अब तक यह कीमतों का सबसे ऊंचा स्तर है। अमेरिका के इस कदम का दुनिया भर के बाजारों पर तगड़ा असर पड़ा। तेल की कीमतें उछलीं, सुरक्षित निवेश के प्रॉडक्ट जैसे कि सोना भी उछल गया और शेयर बाजारों समेत अमेरिकी डॉलर ने गोता खा लिया।
क्रूज मिसाइलें थी
अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि सेना ने एयरबेस पर जो मिसाइलें दागी हैं,वह क्रूज मिसाइलें हैं। गौरतलब है जिस एयरबेस पर हमला हुआ वहां असद की सेनाएं तैनात थीं। इधर मंगलवार को विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके पर गैस अटैक हुआ था। जिसके बदले में यह कार्रवाई अमेरिका की ओर से की गई।
रूस को दी जानकारी
उधर,पेंटागन ने बताया कि सीरिया पर मिसाइल दागे जाने की जानकारी उसने रूस को दे दी है। उसने आगे कहा कि अमेरिकी सेना ने सीरिया के इस बेस में उन ठिकानों को टारगेट नहीं किया है जहां रूसी सेना की मौजूदगी बताई जाती है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *