जेल पर कब्जे के बाद कदियों की सभी मांगे मानी,जेलर व सात अन्य निलंबित

फर्रूखाबाद, फतेहगढ़ जिला जेल पर कैदियों के कब्जा कर लेने के बाद उप्र सरकार ने जेलर व सात अन्य लोगों को निलंबित कर दिया है। कैदियों ने पहले आगजनी की फिर उसके बाद बैरकों की छत पर चढ़ गए। उन्होंने इसके अलावा दो बंदीरक्षकों को बंधक भी बना लिया। अब कैदियों की सभी मांगे मान ली गई हं।
इससे पहले कैदियों के साथ चर्चा करने गए प्रभारी जिलाधिकारी एनपी पांडेय के अलावा जेल अधीक्षक आरके वर्मा, फतेहगढ़ कोतवाली के प्रभारी अनुज निगम व बंदीरक्षक संतोष कुमार घायल हो गए थे। जबकि एक बंदी खंबे से गिरने की वजह से घायल हो गया है। सभी घायलों को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के पीछे थाना राजेपुर क्षेत्र का एक बंदी बताया जा रहा है,जिसका अतुल है। जो जेल अस्पताल में कमर दर्द का इलाज ले रहा था। जेल के डॉक्टर द्वारा उसे डिस्चार्ज करने की रिपोर्ट जेल अधीक्षक को भेजी थी। इसक बाद जब बंदीरक्षक उसे बैरक की ओर ले जाने लगा तो वह भिड़ पड़ा नतीजतन जेल का अलार्म बजा।जेल प्रशासन व बंदीरक्षक कैदियों को संभाल भी नहीं पाए थे कि वह सब बैरकों की छत पर चढ़ गए और पथराव करने लगे। इसी पथराव की जह से चर्चा के लिए आगे बढ़े अधिकांश अधिकारी घायल हो गए। कैदी जेल में मिलने वाले खराब खाने और जेल प्रशासन की वसूली और उत्पीडऩ की शिकायत कर रहे थे। जिसके बाद उनकी सभी मांगे मान ली गई हं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *