सिंगरौली, शिवपुरी और धार में खुलेंगे नये इंजीनियरिंग महाविद्यालय

भोपाल,पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जय जवान-जय किसान-जय विज्ञान के नारे, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्किल इण्डिया, डिजिटल इण्डिया, मेक इन इण्डिया, स्टार्ट-अप इण्डिया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मेरे प्रदेश के युवा रोजगार माँगने वाले नहीं, रोजगार देने वाले बनें के लक्ष्य को तकनीकी शिक्षा और कौशल विकास विभाग पूरा करने में जुटा है। तकनीकी शिक्षा और कौशल विकास राज्य मंत्री दीपक जोशी ने यह बात विधानसभा में विभागों की अनुदान माँगों पर हुई चर्चा के जवाब में कही।
जोशी ने बताया कि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय द्वारा शहडोल और झाबुआ में इंजीनियरिंग कॉलेज खोले गये हैं। सिंगरौली में भी जल्द ही इंजीनियरिंग कॉलेज खोला जायेगा। शिवपुरी और धार में भी इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने की कार्यवाही जारी है।
जोशी ने कहा कि प्रदेश का राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पूरे विश्व का पहला विश्वविद्यालय है, जो बी.टेक. की परीक्षा हिन्दी में लेगा। कौशल प्रशिक्षण गुणवत्ता पर ध्यान नहीं देने के कारण देश में मध्यप्रदेश पहला राज्य है, जिसने 103 प्रायवेट आईटीआई को बंद करने का निर्णय लिया है।
पहली बार 40 लड़कियाँ बनी टू-व्हीलर मेकेनिक
जोशी ने बताया कि देश में पहली बार 40 लड़कियों को टू-व्हीलर मेकेनिक की ट्रेनिंग दी गयी। इन सबको रोजगार भी मिल चुका है। उन्होंने बताया कि कौशल विकास मिशन में प्रतिवर्ष 7 लाख 50 हजार युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दिलवाया जायेगा। प्रत्येक संभाग में उद्योगपतियों और विशेषज्ञों के साथ बैठक की जा रही है।
श्री जोशी ने बताया कि विद्यार्थियों को रोजगार संबंधी परामर्श के लिये उद्यमिता विकास सेल की स्थापना भोपाल में की जा चुकी है। इस तरह के सेल प्रत्येक संभाग में भी खोले जायेंगे।
श्री जोशी के उत्तर के बाद सदन ने उनके विभागों से संबंधित 1693 करोड़ 16 लाख 6 हजार रुपये की अनुदान माँगों को ध्वनि-मत से पारित कर दिया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *