चंदवासला परियोजना के लिए बनेगी डीपीआर

भोपाल,जनसंपर्क, जल संसाधन और संसदीय कार्य डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज विधानसभा में
उज्जैन, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़ जिलों में क्रियान्वित सिंचाई सुविधाओं की जानकारी विधानसभा सदस्यों को प्रदान की। मंत्री डॉ. मिश्र ने विधायक दिलीप सिंह शेखावत के प्रश्न के उत्तर में बताया कि उज्जैन जिले के नागदा, खाचरौद क्षेत्र में सिंचाई, पेयजल और औद्योगिक उपयोग के लिए जल उपलब्ध कराने के लिए चम्बल नदी की सहायक बागेड़ी नदी पर चंदवासला परियोजना के लिए विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन बनाने के निर्देश दिए गए हैं।
विधायक कुंवर सिंह टेकाम के प्रश्न के उत्तर में डॉ. नरोत्तम मिश्र ने बताया कि सीधी और
सिंगरौली जिलों के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र धौहनी में बरचर परियोजना क्रियान्वित की जा रही है।
इससे सीधी जिले में 3290 हेक्टेयर में रूपांकित सिंचाई क्षमता और वर्ष 2016-17 में 1409 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हुई है। अनोहरा डोल योजना निर्माणाधीन है जिसकी रूपांकित सिंचाई क्षमता 378 हेक्टेयर होगी। अन्य लघु योजनाओं में सीधी जिले में बकिया बांध, कोडार बांध, जलधर बांध, बिरनई बांध, देवरी बांध, बेलहा बांध, चुवाही बांध का लाभ किसानों को मिलना प्रारंभ हो गया है। इसी तरह सिंगरौली जिले में पोड़ी जलाशय, महुआ गांव जलाशय और शाजापानी जलाशय से भी किसान सिंचाई सुविधा प्राप्त कर रहे हैं। सीधी जिले में सोहरा बांध, सेर बांध और करवाई बांध के कार्य भी लगभग पूर्ण हो गए हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *