बंगला-बगीचा समस्या निपटने से शहर में खुशी

नीमच, बंगला-बगीचा प्रस्ताव मप्र की शिवराज कैबिनेट से स्वीकृति की मुहर लगते ही नीमच में खुशी का माहौल बन गया। विजय टॉकीज चौराहे पर भाजपाइयों ने आतिशबाजी कर खुशी का इजहार किया।.
कैबिनेट ने बंगला-बगीचा खेत की जमीन का मालिकाना हक नगरपालिका का मानते हुए 5000 वर्ग फु ट की निर्मित व खाली भूमि कब्जेदारों को सौंपने का निर्णय लिया है। जबकि बाकी कि बंगला-बगीचा भूमि कब्जेदारों की सहमति से नगर पालिका के अधिकार मे चली जाएगी। हालांकि खेत की जमीनों में कब्जेदारों को प्लाट नहीं मिल पाएगा। पारित मसौदे के अनुसार 1000 वर्ग फु ट तक के निर्मित या खाली भूखंड पर नगरपालिका कलेक्टर गाइड लाइन दर से 1 प्रिमीयम राशि ली जाएगी जबकि 1 से 3000 वर्ग फि ट तक दो प्रतिशत दो से 5 हजार वर्ग फु ट तक 8 फ ीसदी प्रीमियम राशि देना होगी। इसी तरह सालाना लीज रेंट प्रीमियम का दो फिसदी देना पड़ेगा. इस प्रस्ताव के पारित होते ही बंगला-बगीचा खेत की जमीन पर से शासन के दखल को छुट्टी मिल गई है।
पहले थाने का औचक निरीक्षण अब थानों में श्रमदान की बारी
लखनऊ, उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को फिर काफी सक्रिय रहे इस बार उन्होंने पुलिस थाने का औचक निरीक्षण कर सबको चौंका दिया। वह सबेरे लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली पहुंचे। जहां उन्होंने पुलिस विभाग में व्यवस्थाओं की कमियों की जानकारी ली।
उन्होंने पुलिस के लोगों से यह भी जानने की कोशिश की वह मुकदमों को किस प्रकार से निपटाने की तैयारी करते हैं और उसमें कितना समय लगता है। योगी थाने में करीब आधे घंटे रहे उनके साथ डीजीपी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने थाने में डीजीपी से कहा कि अब सभी थानों में पीडि़तों के लिए विजिटर रूम बनाए जाएं। इधर,शुक्रवार को सभी थानों में श्रमदान करने का भी निश्चय किया गया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *