नर्मदा की सेवा ही भारत माता की सेवा : भागवत

नेमावर। सारी दुनिया में एकता पर विश्वास रखने वाले लोग है। दुनिया के लिए भी और भारत के लिए भी एकता की आवश्यकता है। हमसे अनपढ़ और हमसे दुर्बल लोग देश पर धावा बोलकर हमें नुकसान पहुँचाते थे।
कई देशों से भारत में आक्रामणकारी आये। हम लोग स्वतंत्र हो गए पर स्व तंत्र नहीं बन पाए। हम तो नर्मदा मैया से जल के साथ जीवन भी ग्रहण करते हैं। नर्मदा सेवा यात्रा माँ की सेवा है। नर्मदा मैया की कृपा है कि मध्यप्रदेश खेती में खुशहाल है। सारे देश से लोग नर्मदा मैया के आँचल की शरण लेने आते है। सरस्वती नदी गुप्त हो रही थी अब थोड़ी थोड़ी प्रभावित हुई। नर्मदा मैया की परिक्रमा करने से जीवन सफल हो जाता है। यह सेवा का सबसे बड़ा उदाहरण और आस्था का सैलाब है। नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा नर्मदा मैया की सेवा का काम भारत माँ की सेवा का कार्य है। सारी दुनिया को सेवा देकर बड़ा करने वाला देश भारत बनेगा। यह बात आज नेमावर में आयोजित नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघचालक डॉ. मोहनराव भागवत ने कही।
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने आज नेमावर में नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा में विशाल संख्या में पहुंचे क्षेत्रीय जनता एवं युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पुण्य सलिला नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवन रेखा है। नर्मदा हमें जल देकर विकास का मार्ग प्रशस्त करती है। नर्मदा के जल के कारण ही मध्यप्रदेश की कृषि विकास दर 4 वर्षों में 20 प्रतिशत से अधिक है। उन्होंने कहा कि मां नर्मदा मोक्षदायिनी है। नर्मदा नदी में जल बना रहे इसके लिए वृक्षारोपण किया जाना जरूरी है। उन्होंने सभी भक्तों संकल्प दिलाया कि नर्मदा के दोनों तटों पर वृक्षारोपण कर देखभाल करें। जो गांव पूर्णत: नशामुक्ति का संकल्प लेगा वहां नर्मदा के 5 कि.मी. के दायरे में दोनों तटों पर शराब की दुकानें बंद की जायेगी। बाद में डॉ. मोहनराव भागवत, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचारक अरूण जैन, मध्यभारत प्रांत के प्रचारक अशोक पोरवाल, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत यात्रा में शामिल हुए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *