अपने ही विधायकों से घिरी सरकार

भोपाल,राज्य विधान सभा में बुधवार को प्रश्नोत्तरकाल के दौरान विपक्षी सदस्यों की अपेक्षा सत्तापक्ष के सदस्यों ने अपनी ही सरकार को कई अवसरों पर आरोपों के घेरे में खड़ा किया। उनका कहना था कि प्रशासनिक स्तर पर हो रहे भ्रष्टाचार और गड़बडिय़ों को रोका जाना चाहिए।
एक अवसर पर सत्ता पक्ष के सदस्यों ने एक मामले में उज्जैन संभाग के सभी विधायकों की उपस्थिति में जांच कराये जाने की मांग तक रखी।
कांग्रेस के एक वरिष्ठ विधायक ने तो अपने विधान सभा क्षेत्र से संबंधित सवाल का संतोषजनक जवाब नहीं आने पर सदन से बहिर्गन किया।
दूसरी ओर कांग्रेस के गोविन्द सिंह की ध्यानाकर्षण सूचना के जवाब में गृह मंत्री को सदन में घोषणा करना पड़ी कि हत्या के प्रकरण की जांच उच्च स्तर पर कराई जाएगी।
शाजापुर जिले के जबड़ी रेलवे स्टेशन के पास भोपाल-उज्जैन पैसेंजर रेल में कल सुबह हुए विस्फोट का मामला भी सदन में आज गूंजा।
अंतर्राष्ट्ीय महिला दिवस पर सदन में महिलाओं को बधाई दी गई, पुरूष दिवस मनाए जाने की भी मांग उठी। आज जैसे ही सदन की कार्रवाई षुरू हुई संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने वक्तव्य में कहा कि जबड़ी रेलवे स्टेषन के पास विस्फोट की घटना के आरोपी प्रशासन की तत्परता से पकड़ लिए गए हैं। घटना में आतंकवादियों के तार जुड़े होने का पता चला है। अपराधियों के कुछ ही घंटों में पकड़े जाने के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री और गृहमंत्री को बधाई दी।
कांग्रेस के रामनिवास रावत ने इस घटना के संबंध में दिए गए अपने स्थगन प्रस्ताव को स्वीकार कर सदन में चर्चा कराए जाने की मांग की जिसे नामंजूर कर दिया गया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *