ग्रामीण क्षेत्रों की सडक़ें बदहाल,ठेकेदार नहीं करते मेंटेनेंस

टीकमगढ़, जिले में इन दिनों सडक़ो के हाल काफी बुरे हैं। वह गड्ढ़ों में तब्दील होती जा रही है। क रोडो की सडक़े एक बारिश का पानी भी नहीं झेल सकी हैं। कई स्थानों पर तो सडक़ पर इतने अधिक गड्ढे हो गये है कि वाहनों का निकलना मुश्किल हा गया है।
पृथ्वीपुर से निवाड़ी जाने वाली सडक़ गड्ढ़ो में एैसी तब्दील हुई है कि चलना भी मुश्किल हो गया है,हर समय किसी हादसे की चिंता सताती रहती है।
सडक़ो को निर्र्माण होता है तब यह बताया जाता है कि ठेकेदार पांच साल तक सडक़ों का मेन्टीनेन्स करेगा लेकिन यहां एैसा कुछ दिखाई नहीं दे रहा।
दरअसल,सडक़ निर्माण के समय ठेकेदार द्वारा किए गए काम की जांच नहीं होती है,काम चाहे आरईएस हो या लोकनिर्माण विभाग ठेकेदार के भरोसे ही छोड़ देते है और जब निरीक्षण करने जाते हेै अधिकारी तो वह रस्मअदायगी साबित होती है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों की सडक़ें पंगडडियों में तब्दील होती जा रही हैं। जिनमें टपरियन , लखौरा, बडमराई, परसुवां, मवई के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में जब अंदर की ओर जाओं तो सडक़े नहीं बल्कि गड्ढ़े नजर आते है। सडक़ो की खराब हालत लिधौरा नगर परिषद क्षेत्र में भी है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *