कांग्रेस का जंगी प्रदर्शन,एकजुटता दिखाई,गिरफ्तारियां

भोपाल, प्रदेश कांग्रेस ने राज्य में अपने शीर्षस्थ नेताओं की अगवानी में जंगी प्रदर्शन कर सत्ता पक्ष को बीते तीन साल में पहली बार अपनी ताकत का अहसास कराया. जंगी-प्रदर्शन के साथ ही आमसभा एवं मप्र विधानसभा का घेराव के कार्यक्रम आयोजित किए गए.
वरिष्ठ नेताओं कमलनाथ, दिग्विजय ङ्क्षसह और ज्योतिरादित्य ङ्क्षसधिया ने एक मंच से शिवराज सरकार को 2018 में उखाड़ फेंकने का आहवान किया. सभा के बाद जब कांग्रेसजन विधानसभा का घेराव करने सभा स्थल से आगे की ओर बढ़े तो पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया, इस दौरान पुलिस के साथ मामूली कहा सुनी और नोंकझोंक भी हुई.
कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद कमलनाथ, प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश, महासचिव दिग्विजय सिंह,ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं कांतिलाल भूरिया, पूर्व मंत्री सुरेश पचौरी, राज्य सभा सदस्य विवेक तन्खा, मप्र विधानसभा उपाध्यक्ष राजेन्द्रसिंह, प्रभारी नेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह सहित बड़ी संख्या में प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी, विधायक, पूर्व सांसद/ विधायक, जिला कांग्रेस अध्यक्ष, कांग्रेस पक्ष के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों सहित 1 लाख से भी अधिक कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे. विधानसभा घेराव के दौरान सभी वरिष्ठ नेताओं सहित कार्यकर्ताओं ने अपनी गिरफ्तारियां दी. सभी नेताओं ने एक स्वयं में हुंकार भरी और भाजपा को ललकारा, कहा वर्ष-2018 हमारा है.
दिग्विजय ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका परिवार रेत खनन, व्यावसयिक परीक्षा मंडल और पोषणाहार से जुड़े घोटाले में शामिल हैं. उन्होंने चुनौती दी कि मुख्यमंत्री इस मामले को अदालत में ले जाएं, वे वहां इसे साबित कर देंगे.
जबकि कमलनाथ ने कहा कि 1990 में कांग्रेस नेता पहले ही भाजपा सरकार को बेनकाब कर चुके हैं. ऐसा ही इस बार फिर कांग्रेस करने वाली है. उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर सरकार द्वारा झूठे मुकदमे लादने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर पहली केबिनेट में ऐसे सभी झूठे प्रकरण समाप्त किए जाएंगे. कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस सरकार किसानों के कर्जे माफ करेगी. साथ ही नौजवानों और व्यापारियों के हितों का ध्यान रखा जाएगा.
ङ्क्षसधिया ने मुख्यमंत्री द्वारा निकाली जा रही नर्मदा सेवा यात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि इसमें वे सर्वेयर की भूमिका निभा रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि वे दिन में सर्वे करते हैं और रात में खनन. कांग्रेस ने केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों के विरोध में आज भोपाल के टीनशेड में प्रदर्शन आयोजित किया था. इसमें पूरे प्रदेश से हजारों कार्यकर्ता पहुंचे.
नेताओं ने दी गिरफ्तारियां

विधानसभा घेराव के साथ ही वरिष्ठ नेताओं कमलनाथ, दिग्विजय ङ्क्षसह, ज्योतिरादित्य ङ्क्षसधिया, विवेक तन्खा और प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव सहित अन्य नेताओं ने गिरफ्तारियां दीं. स्थानीय टीन शेड क्षेत्र में विधानसभा घेराव कार्यक्रम के तहत कांग्रेस नेताओं की जनसभा लगभग तीन घंटे तक चली. इसके बाद सभी नेता विधानसभा की ओर बढे लेकिन पहले से ही पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था करके डटे पुलिस प्रशासन ने सुरक्षित दायरे से आंदोलित नेताओं और कार्यकर्ताओं को आगे नहीं बढने दिया. नेताओं और कार्यकर्ताओं ने आखिरकार विरोध स्वरूप अपनी गिरफ्तारियां दीं. सभी को स्थानीय पुलिस लाइन क्षेत्र में बनाई गई अस्थाई जेल ले जाया गया और वहां पर आवश्यक औपचारिकताओं के बाद सभी की रिहायी की घोषणा की गयी. गिरफ्तारी देने वाले नेताओं में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी और कांतिलाल भूरिया, सेवादल के मुख्य संगठक महेंद्र जोशी, वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मंत्री अजय ङ्क्षसह, विधानसभा में प्रभारी नेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन, अनेक विधायक, सांसद, पदाधिकारी और राज्य के विभिन्न हिस्सों से आए कार्यकर्ता शामिल रहे.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *