Pachmarhi की चर्चा – सोशल मीडिया पर बढ़ाओ सक्रियता

भोपाल/पचमढ़ी, भाजपा बैठक में नेताओं के बीच के तालमेलयसोशल मीडिया के उपयोग और आपसी समन्वय सरीखे विषयों पर अलग-अलग सत्रों में चर्चा शुरु हुई. जिसे पार्टी की ओर से अभ्यास वर्ग कहा जा रहा है. जिसमें सभी विधायक, संगठन पदाधिकारी शिरकत कर रहे हैं.
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी यहां मौजूद रहेंगे.
इधर, विधायकों को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मीडिया की महत्ता पर चर्चा में विधायकों से कहा कि वह सोशल मीडिया पर अपनी सक्रियता बढ़ाएं. उन्होंने कहा कि पार्टी का मंत्री होने के नाते मैं भारत को नए रुप में देख रहा हूं. पलक झपकते ही ट्विटर और फेसबुक पर सूचनाएं आ जाती हैं और प्रतिक्रिाओं का अंबार लग जाता है. सोशल मीडिया आज एक धारणा मूलक माध्यम है इसलिए हमें इसके अधिकतम इस्तेमाल पर जोर देना होगा. उन्होंने कहा कि समाचार पत्रों से चलकर सूचना के माध्यम आज सोशल मीडिया तक पहुंच गए हैं और भारत की नई पीढ़ी बहुत तेजी से सोशल मीडिया से जुड़ रही है. उन्होंने कहा कि सवा सौ करोड़ के भारत में 108 करोड़ मोबाइल है और इनमें से 33 करोड़ स्मार्टफोन है. जो कुछ ही दिनों में 50 करोड़ के आसपास हो जाएंगे.
इसके पहले प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने विधायक प्रशिक्षण वर्ग का शुभारंभ करते हुए कहा कि काम में निरंतर अभ्यास की आवश्यकता होती है. दुनिया में कोई भी क्षेत्र हो सतत अभ्यास करने से उस काम की दक्षता में और निखार आता है चाहे खिलाड़ी हो, गायक हो, प्रशासनिक अधिकारी हो अथवा राजनेता हो, सभी को और अच्छा करने के लिए अभ्यास करना होता है.
उन्होंने कहा कि अभ्यास की आवश्यकता इसलिए है कि मनुष्य के भीतर अनंत संभावनाएं छिपी हुई है, और हमारे अंदर जो संभावनाएं छिपी हैं प्रशिक्षण से बाहर निकलती हैं. जीवन में अच्छा करने की कोई अंतिम सीमा नहीं है, इसलिए अच्छे से अच्छा करने के लिए हमें निरंतर कठोर प्रशिक्षण करना चाहिए.
उद्घाटन सत्र के बाद विधायक की भूमिका और अधिकार सदन में विषय पर बोलते हुए केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि भारत में जनता का शासन जनता के द्वारा जनता के लिए है, इसलिए संविधान में जिस लोक कल्याणकारी राज्य की कल्पना की गई है उसका ज्ञान हम सभी को होना चाहिए. इसके लिए हमारे विधायकों को गहन अध्ययन करना होगा. उन्होंने विधायकों से सदन में अधिकतम उपस्थिति का आग्रह भी किया. उन्होंने कहा कि सदन के महत्व को मजबूती देना चाहिए.
दो दिन की बैठक मध्यप्रदेश पर्यटन निगम के होटल में रखी गई है. इधर,ज्यादातर विधायक,मंत्री व महत्वपूर्ण पदाधिकारियों का सोमवार शाम से ही पचमढ़ी पहुंचना शुरु हो गये थे.
ये रहे चर्चा के विषय
1 मंत्री विधायकों के पत्रों का जवाब नहीं देते
2 विधायकों और मंत्रियों का परफार्मेंस
3 आस-पास साफ छवि के लोगों को रखना
4 पार्टी विथ डिफरेंस की कड़वी गोली

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *