शशिकला की राह आसान नहीं

चेन्नई, तमिलनाडु के सीएम का पद अभी अन्ना द्रमुक नेता वीके शशिकला संभालें उसके पहले उनके लिए ये ताज कांटों भरा साबित हो रहा है. उनके आज मंगलवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ की संभावना थी,लेकिन राज्यपाल से समय नहीं मिला है. उधर, उधर,उनकी ताजपोशी रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है.जिसमें अदालत से एक सप्ताह के भीतर भ्रष्टाचार मामले पर फैसले की गुजारिश की गई है, जिसमें वह और दिवंगत मुख्यमंत्री जे.जयललिता को आरोपी बनाया गया था. चेन्नई निवासी सेंथिल कुमार की ओर से शचिका दायर की गई है.गौरतलब है ये मामला 19 साल पुराना है,जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने संकेत दिए थे कि वह जल्द ही इसके खिलाफ अपील पर फैसला सुनाएगा. अब याचिका पर मंगलवार को सुनवाई संभव है, याचिकाकत्र्ता ने खुद ही दलील देने की बात कही है.

उधर,नटराजन को सीएम बनाए जाने के पार्टी के फैसले पर घमासान मचा हुआ है. जयललिता की भतीजी दीपा जयकुमार ने बाकायदा पत्रकार-वार्ता कर कि 33 साल तक किसी के साथ रहना सीएम पद की योग्यता नहीं होती. उन्होंने जयललिता की मौत को प्राकृतिक नहीं कहा. उन्होंने कहा कि लोगों ने शशिकला को वोट नहीं दिया था. उन्होंने कहा, तमिलनाडु में अफरा-तफरी का माहौल है, उन्होंने कहा वह पहले दिन से ही अपोलो अस्पताल से मांग कर रही थीं कि उन्हें अंदर जाने दिया जाए लेकिन उन्हें कभी इसकी अनुमति नहीं मिली. इस बीच दीपा ने कहा कि मुझ पर राजनीति में आने का दबाव है. जिस पर वे 24 फरवरी को ही कोई निर्णय करेंगी. क्योंकि ये दिन अम्मा की जन्म जयंती का दिन है.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *