भूकंप आ ही गया : प्रधानमंत्री

नई दिल्ली,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि उनकी सरकार कामकाज में नई तकनीक के इस्तेमाल के साथ ही नई कार्य संस्कृति विकसित कर रही है. उन्होंने कहा नीतियों की ताकत नीयत से जुड़ी है.अगर नीयत सही नहीं है तो नीतियां माइनस में जाएंगी.
विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि आप मोदी का विरोध करें कोई बात नहीं है लेकिन अच्छी चीजों को आगे भी बढ़ाइए. उन्होंने कहा हमारी सरकार सडक़ बनाने में स्पेस टेक्नॉलजी का इस्तेमाल कर रही है, जबकि रेलवे निर्माण में ड्रोनों का इस्तेमाल किया जा रहा है. जिससे काम की गति तेजी से बढ़ी है,ज्यादा घर और ज्यादा रेलवे लाइनें बिछाई जा रही हैं.
प्रधानमंत्री राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अभिभाषण पर चर्चा का जबाव दे रहे थे. उन्होंने कहा कि कांग्रेसियों को लगता है कि सिर्फ एक ही परिवार ने आजादी दिलाई, इनके मुंह से सुनने को नहीं मिलता कि कोई भगत सिंह,या आजाद भी थे. उन्होंने कहा कि मेरी तरह बहुत से एैसे शख्स हैं जो आजादी की लड़ाई के समय शहीद नहीं हो पाए लेकिन हम देश के लिए जी कर सेवा कर रहे हैं. प्रधानमंत्री राहुल गांधी पर भी चुटकी लेने से नहीं चूके उन्होंने कहा कि आखिर भूकंप आ ही गया.वह नोटबंदी के समय उनके यह कहने पर कि वह संसद में बोलेंगे तो भूकंप आ जाएगा. पर कटाक्ष कर रहे थे. मोदी ने कहा कि भूकंप आ ही गया, कोई कारण तो होगा, कि धरती मां रूठ गई होंगी. जब कोई स्कैम में भी सेवा, नम्रता का भाव देखता है तो धरती मां दुखी हो जाती हैं और भूकंप आता है.
मोदी ने कहा कि हमें चुनाव की नहीं बल्कि देश की चिंता है, नोटबंदी पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आपने सदन में इस लिए चर्चा नहीं होने दी कि इससे कहीं मोदी को फायदा न हो जाए. उन्होंने कहा कि लेकिन मुझे चुनाव की नहीं बल्कि देश की चिंता है. नोटबंदी के फैसले को उन्होंने समय पर लिया गया सही फैसला बताया. उन्होंने कहा कि बेनामी संपत्ति का कानून पास हो गया है. यह कितना कठोर कानून है. उन्होंने कहा कि अपील करता हूं कि लोग मुख्यधारा में आकर देश के विकास में सहयोग दें. नोटबंदी पर उनकी सरकार द्वारा किए गए संशेधनों के उपहास पर उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि मनरेगा में 1035 बार नियम बदले गए. प्रधानमंत्री ने सदन में हास्य कवि काका हाथरसी की कविता भी सुनाई. कहा कि अंतरपट में खोजिए, छिपा हुआ है खोट, मिल जाएगी आपको, बिल्कुल सत्य रिपोर्ट.
गौरतलब है इसक पहले सोमवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडग़े ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में सरकार के दावों पर सवाल उठाए और तीखे प्रहार भी किए.उन्होंने कहा, बोलने में तेज हैं आप, भाषण में बहुत अच्छे. लेकिन भाषण से पेट नहीं भरता. सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक की क्रेडिट लेने की जरुरत नहीं है. सिर्फ आप नहीं पूरा देश आर्मी के साथ है.जबकि नोटबंदी पर बोते हुए कहा था कि 125 लोगों की मौत हो गई.जिस पर प्रधानमंत्री को माफी तो मांगनी ही चाहिए थी.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *