उफ… ये कैसी कार्रवाई कलेक्टर-एसपी में टकराहट लाई

छिंदवाड़ा, जिले में शराब दुकान पर की गई कार्रवाई के बाद कलेक्टर और एसपी के बीच बयानों के तीर चले हैं. अवैध शराब दुकान पर एसपी गौरव तिवारी की गई कार्रवाई पर कलेक्टर जेके जैन का कहना है कि यह प्रकरण चूंकि शराब दुकान से जुड़ा हुआ था अत: इसे पुलिस को आबकारी विभाग को ही सौंपना चाहिए था.
इस बारे में जब एसपी गौरव तिवारी से पूछा गया तो उनका कहना था कि उक्त कार्रवाई तो संयुक्त रूप से ही की गई थी, अत: कोई प्रश्न ही नहीं उठता है. जानकारी अनुसार गत रविवार बड़वन स्थित अंग्रेजी शराब दुकान में कार्रवाई पुलिस ने की और मामला दर्ज कर लिया. इस पर आबकारी अधिकारियों ने प्रकरण उन्हें सौंपने की मांग की. इस प्रकार मामला पुलिस और प्रशासन के बीच झूलता नजर आया तो कलेक्टर जेके जैन ने कहा कि पुलिस को मामला आबकारी विभाग को ही सौंपना चाहिए, क्योंकि अगर लाइसेंसी कंडीशन में भी अगर ज्यादा बोतलें मिलती हैं तो भी पुलिस क्या कर सकती है. इसके जवाब में एसपी गौरव ने कहा कि कार्रवाई संयुक्त रूप से की गई थी. इसके बाद एफआईआर कोतवाली थाने में दर्ज की गई। पुलिस को अवैध शराब बिक्री की शिकायत मिली थी. इसके बाद ही एसपी गौरव ने बड़वन स्थित अंग्रेजी शराब दुकान में दबिश दी थी. जहां कार्रवाई करते हुए दोनों गोदामों को सील कर दिया गया. इसके बाद जांच दल ने तकरीबन 133 पेटियां जब्त कीं जो बिना टीपी की बताई गईं. इसे लेकर भी आबकारी विभाग और पुलिस में तनातनी बताई जा रही है. आबकारी विभाग ने संपूर्ण मामला उसे सौंपे जाने की मांग कर दी है.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *