बाबा अयासिंह रियारकी कॉलेज सम्मानित

भोपाल, संस्कृति विभाग द्वारा स्थापित राष्ट्रीय सम्मानों का अलंकरण समारोह 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर लोकरंग समारोह के मंच पर आयोजित किया गया. इस समारोह में मुख्य अतिथि संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र पटवा ने कला, साहित्य, संस्कृति एवं समाज सेवी संस्था को प्रतिष्ठा सम्मानों से विभूषित किया.
गरिमामय समारोह के अवसर पर राष्ट्रीय सम्मानों वर्ष 2012-13 के महात्मा गांधी सम्मान से पंजाब तुगलवाल की शिक्षण संस्था बाबा अयासिंह रियारकी कॉलेज को विभूषित किया गया
संस्था को दस लाख रुपए की राशि एवं सम्मान पट्टिका प्रदान की गयी.

भारतीय कविता के लिए मूर्धन्य बंगला कवि अलोक रंजन दास गुप्ता को यह सम्मान प्रदान किया गया था जिसे उनकी बहन सुश्री छन्दा बोस ने मंच पर ग्रहण किया. इस सम्मान ने तीन लाख रुपए की राशि एवं सम्मान पट्टिका प्रदान की गयी.

हिन्दी साहित्य के लिए मैथिलीशरण गुप्त सम्मान से विख्यात लेखक विश्वनाथ त्रिपाठी को विभूषित किया जाना था, वे अस्वस्थतावश पधार नहीं सके, यह सम्मान विभागीय अधिकारी द्वारा मंच पर स्वीकार किया गया जो उनको नईदिल्ली जाकर ससम्मान भेंट किया जाएगा. उर्दू साहित्य के लिए इकबाल सम्मान कोलकाता के सैयद मोहम्मद अशरफ को प्रदान किया गया. उन्हें दो लाख रुपए की राशि एवं सम्मान पट्टिका प्रदान की गयी. इसी प्रकार शास्त्रीय नृत्य के क्षेत्र में विख्यात ओडिसी डांसर भुवनेश्वर की सुश्री कुमकुम मोहन्ती को दो लाख रुपए की राशि एवं सम्मान पट्टिका भेंटकर सम्मानित किया गया.



कविता के लिए स्थापित राष्ट्रीय कवि प्रदीप सम्मानों के अलंकरण भी प्रदान किए गये. वर्ष 2013 से 2016 तक चार वर्षों के लिए क्रमश: यशस्वी कवियों बालकवि बैरागी, मनासा, सोम ठाकुर, आगरा, सुश्री माया गोविन्द, मुम्बई एवं सुरेन्द्र शर्मा, नई दिल्ली को विभूषित किया गया. इस सम्मान के अन्तर्गत सभी सम्मानितों को दो-दो लाख रुपए की राशि एवं सम्मान पट्किा प्रदान की गयी.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *