फिर तूल पकड़ेगा डंंफर काण्ड ?

रीवा, मध्यप्रदेश की राजनीति में बवाल खड़ा कर देने वाला डंंफर काण्ड फिर से उखाडऩे की कोशिशें शुरु हो गई हैं. इस मामले पर सीएम और उनकी पत्नी साधना सिंह सहित 6 लोगो के खिलाफ रीवा की विशेष अदालत में कांग्रेस की तरफ से परिवाद दायर किया गया है. जिस पर 23 जनवरी को सुनवाई की जाएगी.जिसमें बतौर साक्ष्य पांच सौ पेज के दस्तावेज पेश किये गये है.
इस ममाले में कांग्रेस लोकायुक्त संगठन पर आरोप लगा रही है,कि मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रभाव में उसने जानबूझ कर दस्तावेज पेश नही किये और अधूरे दस्तावेज की वजह से खात्मा लगाना पड़ा था. इसी से भोपाल जिला न्यायालय व बाद में उच्च न्यायालय जबलपुर ने खात्मा से संबंधित प्रतिवेदन को स्वीकार कर लिया. रीवा आए प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता के.के मिश्रा ने केस दायर करने के बाद गुरूवार शाम पत्रकारवार्ता की जिसमें उन्होने बताया कि अब अतिरिक्त दस्तावेजो के आधार पर यह इस्तगासा पेश किया गया है.जिसमें पांच सौ पेज के प्रमाणित दस्तावेज प्रस्तुत किये गये है.
गौरतलब है ये मामला नौवस्ता स्थित जेपी सीमेन्ट से जुड़ा है, जहां ये डम्फर लगे हुए थे. प्रवक्ता मिश्रा ने बताया कि उन्होने विशेष न्यायाधीश रीवा हरिशरण यादव की न्यायालय में अपने अधिवक्ता सुनील पाण्डेय के द्वारा एक परिवाद पत्र दायर किया है. जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उनकी पत्नी श्रीमती साधना सिंह, एस.के मिश्रा प्रमुख सचिव, पूर्व क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी के.एन थापक, राजेन्द्र शुक्ला वर्तमान उद्योग मंत्री एवं पूर्व सरपंच ग्राम पंचायत नौवस्ता नीलकण्ठ पाण्डेय के विरूद्ध जुर्म दफा-13 (1) (डी) एवं धारा 13 (1) (इ) पी.सी.एक्ट 1988 सहपठित धारा 107, 120बी, भा.द.वि, एवं 167, 420, 467, 468, 471 भा.द.वि के धाराओं के साथ परिवाद दायर किया है.
उधर,सीएम शिवराज सिंह चौहान युवा सम्मेलन में शिरकत करने शुक्रवार को रीवा जा रहे हैं. मुख्यमंत्री दोपहर में वायुयान द्वारा अपरान्ह एक बजे रीवा पहुंचेंगे तथा युवा सम्मेलन सहित स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होंगे. विकास एवं जनकल्याण के 11 वर्ष के उपलक्ष्य में रीवा एंव शहडोल संभाग का संभाग स्तरीय युवा सम्मेलन आज 20 जनवरी को रीवा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में आयोजित होगा.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *