मुंबई में ऋण माफी की मांग को लेकर सड़क पर उतरे किसान

मुंबई, यूपी में किसानों का कर्ज माफ करने की बात करने के बाद अब भाजपा शासित राज्य महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की मुशिकिल बढ़ती जा रही है। बुधवार को स्वाभिमानी शेटकरी संगठन के नेता राजू शेट्टी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के ऋण माफी की संभावनाओं के बारे में किसानों को गुमराह किया है। उन्होंने कहा कि फडनवीस और गडकरी, जब विपक्ष में थे तब उन्होंने पीड़ित किसानों के हक की मांग की थी, लेकिन अब जब दोनों पद (एक मुख्यमंत्री और दूसरा एक केंद्रीय कैबिनेट सदस्य) पर हैं, तो दोनों इस मुद्दे को लेकर गंभीर नहीं दिखाई दे रहे हैं।उल्लेखनीय है कि, शेट्टी ने कोल्हापुर से मुंबई तक सरकार की गैर-कृषि नीतियों के खिलाफ एक रैली का नेतृत्व किया। इस दौरान उन्होंने राज्यपाल विद्यासागर राव को एक ज्ञापन भी सौंपा जिसमें जिला सहकारी बैंकों के जरिये बेहतर फंड, कृषि उत्पाद के लिए मूल्य निर्धारण पर स्वामीनाथन पैनल की सिफारिश को लागू करने और प्रस्तावित मुंबई-नागपुर सुपर राजमार्ग परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण को रोकने की मांग की गई।
मंगलवार को मुंबई के पैरेल से बायकुला तक आयोजित इस रैली में कई किसानों ने भाग लिया। प्रस्तावित मांगें पूरी नहीं होने पर संगठन ने आंदोलन को तेज करने की धमकी दी है। इसके अलावा अहमदनगर में पुटांगा गांव के किसानों ने भी ऋण माफी की मांग पूरी नहीं होने पर मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद १ जून को विरोध प्रदर्शन शुरू करने का फैसला किया है। राजी शेट्टी ने आगे कहा कि सरकार की नोटबंदी की नीति के बाद किसानों को काफी नुक्सान हुआ है। किसानों के पास फंड नहीं है क्योंकि जिला सहकारी बैंक उन्हें फायनांस नहीं कर पा रहे हैं। शेट्टी ने आगे कहा कि २०१४ लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी ने किसानों की भलाई का वादा किया था लेकिन उनके पक्ष में कोई भी कदम नहीं उठाए गए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *