वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री महेश जोशी पंचतत्व में विलीन

इंदौर, वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्य के पूर्व मंत्री महेश जोशी की पार्थिव देह शनिवार को पंचतत्व में विलीन हो गई । सुबह पार्थिव देह भोपाल से इंदौर पहुंची। दोपहर में उनकी अंतिम यात्रा उनके घर ओल्ड पलासिया से निकाली गई और रामबाग मुक्तिधाम पहुंची। उनकी अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए, यहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद बेटे पिंटू जोशी ने उन्हें मुखाग्नि दी। अंतिम यात्रा में कांग्रेस के साथ ही भाजपा के भी कई नेता शामिल हुए। बता दें कि कांग्रेस नेता जोशी का लंबी बीमारी के बाद शुक्रवार रात लीवर में संक्रमण से भोपाल के पारुल अस्पताल में निधन हो गया था।
जोशी को श्रद्धांजलि देने पहुंचीं पूर्व लोस स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि जब से मैं राजनीतिक जीवन में आई, हमने साथी के रूप में काम किया। कभी मन में बातें नहीं रखीं। महेश जी ने इंदौर के लिए बहुत कुछ किया। वहीं, पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि उन्होंने ईमानदारी से राजनीतिक जीवन में लोगों की सेवा की है। उन्होंने यदि किसी को जुबान दी तो वे उस पर कायम रहा करते थे। हर परिस्थिति में उन्होंने इंदौरियों की सेवा की। कांग्रेस पार्टी के लिए तो उनका जाना क्षति है ही, प्रदेश के लिए भी यह राजनीतिक क्षति है। वे मेरे पिता तुल्य थे। उन्होंने मेरे राजनीतिक जीवन में हमेशा मार्गदर्शन किया।
1972 में वे पहली बार विधायक बने थे
पूर्व मंत्री महेश जोशी का जन्म 2 अप्रैल 1939 को राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ में हुआ था। सप्ताहभर पूर्व ही वे 82 वर्ष के हुए थे। 1972 में वे पहली बार विधायक बने। 1985 में चुनाव जीतने के बाद वे मंत्री बनाए गए। वे विधानसभा क्षेत्र 1 और विधानसभा क्षेत्र 3 से विधायक रहे। लंबे समय तक उन्होंने 20 सूत्रीय क्रियान्वयन समिति का उपाध्यक्ष पद संभाला। मप्र कांग्रेस के महामंत्री, युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव जैसे दायित्व भी निभाए। ओलंपिक संघ के अध्यक्ष रहे और पचमढ़ी में कांग्रेस के राष्ट्रीय अधिवेशन की कमान संभाली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *