शिवराज ने ट्रक ड्राईवर के घर पहुंच कर खाये गरमा-गरम भजिये और पी चाय

जबलपुर, ग्राम मेहगवां के चौधरी मोहल्ले में निवास करने वाले गरीब चौधरी परिवार के लिये शनिवार का दिन किसी उत्सव से कम नहीं था, क्योंकि आज उनके घर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आये थे। मुख्यमंत्री ने ट्रक ड्रायवर अशोक चौधरी के घर पहुँचकर उनके परिजनों से मुलाकात की। अपने घर मुख्यमंत्री को पाकर चौधरी और उनकी पत्नी माला चौधरी ने उनका स्वागत किया और उन्हें गरमा-गरम भजिये, पोहा के साथ चाय भी पिलाई। शिवराज ने चौधरी परिवार की छोटी बेटी खुशी को अपने हाथों से भजिये खिलाये।
चौहान ने चौधरी परिवार से संवाद करते हुए शासन से मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ली। अशोक चौधरी ने बताया कि वे ट्रक ड्रायवर हैं और उनकी पत्नी घर में ही छोटी-सी किराना दुकान चलाकर परिवार के भरण-पोषण में मदद करती है। उनकी तीन बेटियाँ और एक बेटा है। बड़ी बेटी हिना चौधरी का विवाह हो चुका है, जबकि खुशी चौधरी तथा बेटा अनुराग चौधरी स्कूल में पढ़ रहे हैं। उनकी पत्नी को प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना के तहत व्यवसाय बढ़ाने के लिये 10 हजार रूपए की ऋण सहायता मिल चुकी है और वह महिला स्व-सहायता समूह से भी जुड़ी हैं। परिवार संबल योजना, उज्जवला योजना और आयुष्मान भारत योजना का हितग्राही भी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आठवीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ चुकी चौधरी परिवार की बेटी खुशबू को पुन: स्कूल में एडमिशन लेने और पढ़ाई शुरू करने के लिये राजी किया।
चौहान के आने की सूचना पाकर न केवल चौधरी परिवार, बल्कि पूरे मेहगवां ग्राम में उत्सव सा माहौल था। पड़ोसी भी माला के घर पहुँच गये थे। माला और अशोक का कहना था कि मुख्यमंत्री उनके घर नाश्ता करने आ रहे हैं। उनके लिये इससे बड़ी खुशी और कोई नहीं हो सकती है। अशोक ने कहा कि उसने कभी सोचा नहीं था कि प्रदेश के मुखिया उनके घर भी आ सकते है। अशोक ने अपने घर को सुबह से ही साफ-सुथरा कर सीएम की अगवानी की तैयारी कर ली थी। चौहान के साथ संसद सदस्य राकेश सिंह, विधायक अशोक रोहाणी, अभिलाष पाण्डे, जी.एस. ठाकुर, रानू तिवारी और डॉ. जितेन्द्र जामदार भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *