अनलॉक-1 की घोषणा और मिले कोरोना के 8,000 से अधिक संक्रमित

नई दिल्ली, एक तरफ तो केंद्र सरकार ने अनलॉक – 1 की घोषणा करके लॉक डाउन करीब-करीब समाप्त कर दिया है वहीं दूसरी तरफ कोरोनावायरस के संक्रमण में भी रिकॉर्ड वृद्धि हुई है। शनिवार को रात 10 बजे तक 8,301 नए संक्रमित मिलने के साथ ही सारे देश में कोरोनावायरस पीड़ितों की संख्या बढ़कर एक लाख 81 हजार 792 हो गई। इसे देखकर यह आशंका जताई जा रही है कि लॉक डाउन में जिस अनुपात में ढील दी जाएगी कोरोना वायरस का संक्रमण खतरनाक स्तर पर पहुंच जाएगा।
शनिवार को 8,000 से ऊपर नए संक्रमित मिलने के साथ ही पिछले 12 दिन के भीतर लगभग 72,000 संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। यह 24 मार्च से लेकर 30 मई के बीच मिले कुल संक्रमित मरीजों का 40% से ज्यादा है। हालांकि 86,843 मरीज ठीक भी हुए हैं। पर मरने वालों की संख्या भी 5,179 हो गई है।
संक्रमण और मौत के मामले में महाराष्ट्र सबसे आगे चल रहा है। शनिवार को यहां एक बार फिर 2,940 नए कोरोनावायरस संक्रमित मिले और पीड़ितों की संख्या बढ़कर 65,168 हो गई। इनमें से 28,081 ठीक हो चुके हैं जबकि 2,197 की मौत हो चुकी है। तमिलनाडु में शनिवार को 938 नए संक्रमित मरीज मिलने के साथ कोरोनावायरस पीड़ित मरीजों की संख्या 21,184 तक पहुंच गई। जिनमें से 12,000 ठीक हो चुके हैं और 163 की मौत हो चुकी है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शनिवार को लगातार तीसरे दिन कोरोनावायरस के नए संक्रमित मरीजों की संख्या 1,163 आई और पीड़ितों की संख्या बढ़कर 18,549 पहुंच गई। इनमें से 8,075 ठीक हो चुके हैं तथा 416 की मौत हो चुकी है।
गुजरात में टेस्टिंग कम होने के कारण शनिवार को 412 मरीज मिले और पीड़ितों की संख्या बढ़कर 16,356 हो गई इनमें से 9,232 ठीक हो चुके हैं जबकि 1,007 की मौत हो चुकी है। देखा जाए तो महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली और गुजरात में ही शनिवार को 5,453 नए संक्रमित मिले हैं। इन राज्यों में संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है।
शनिवार को राजस्थान में 252, उत्तरप्रदेश में 256, मध्यप्रदेश में 246, पश्चिम बंगाल में 317, बिहार में 206, आंध्रप्रदेश में 131, कर्नाटक में 141, जम्मू और कश्मीर में 177, हरियाणा में 202, असम में 128 कोरोनावायरस संक्रमित मरीज मिले। बिहार और उत्तरप्रदेश जैसे राज्यों में टेस्टिंग कम होने के बावजूद इतनी बड़ी तादाद में मरीजों का मिलना चिंताजनक है। पूर्वोत्तर के पश्चिम बंगाल – असम जैसे कुछ राज्यों में कोरोना वायरस का फैलाव इस बात का संकेत है कि इस क्षेत्र में आने वाले समय में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ सकती है। दक्षिण भारत में तमिलनाडु में बड़ी संख्या में मरीज मिल रहे हैं लेकिन बाकी राज्यों में स्थिति नियंत्रित है। दक्षिण भारत में रिकवरी रेट भी अच्छा है और मृत्यु दर बहुत कम है। गुजरात में लगातार दूसरे दिन नए संक्रमित मरीजों की संख्या से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या थी। यहां 412 मरीज मिले और 621 मरीज ठीक हुए। हालांकि 27 लोगों की मृत्यु की हो गई। मृत्यु दर अवश्य चिंताजनक है किंतु गुजरात जैसे राज्यों में रिकवरी की अच्छी हो रही है। छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में 32 नए मरीजों का मिलना इसलिए चिंताजनक है क्योंकि यहां अप्रैल के पूरे माह और मई के पहले सप्ताह तक मरीजों की संख्या दहाई में ही थी। इस प्रकार नए राज्यों में कोरोना का फैलाव देश की स्वास्थ्य व्यवस्था के लिए चिंता का विषय है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *