एमपी में इंदौर के बाद अब भोपाल बना कोरोना का हॉटस्पॉट, 21 नए केस के साथ 62 लोग कोरोना पॉजिटिव

भोपाल, मप्र में इंदौर के बाद भोपाल कोरोना वायरस संक्रमण का हॉटस्पॉट बन गया है। राजधानी में सोमवार सुबह 21 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। अब तब भोपाल में 62 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इससे पहले रविवार देर रात इब्राहिमगंज के रहने वाले 52 साल के कोरोना संक्रमित मौत हो गई। उसे नर्मदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
सोमवार को भी स्वास्थ्य विभाग के पांच कर्मचारियों समेत 14 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अब तक स्वास्थ्य विभाग से 16 अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित हो गए। भोपाल में कुल संक्रमितों की संख्या 62 हो गई। यहां इस समय कुल 53 संक्रमितों का इलाज चल रहा है। भोपाल में अब तक 20 जमाती संक्रमित पाए गए।
अब तक 15 की मौत
प्रदेश में अब तक इस महामारी से 15 लोगों की मौत हो चुकी है। मरने वाले लोगों में इंदौर के सर्वाधिक 10, उज्जैन के दो और खरगोन, छिंदवाड़ा और भोपाल के एक-एक मरीज शामिल हैं।
मप्र में 239 कोरोना संक्रमित
मध्य प्रदेश में 239 कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इनमें इंदौर 135, भोपाल 62, मुरैना 12, जबलपुर 8, उज्जैन 8, खरगोन 4, बड़वानी 3, ग्वालियर, शिवपुरी और छिंदवाड़ा में 2-2, विदिशा में एक संक्रमित मिला। अब तक इंदौर में 10, उज्जैन में 3, भोपाल, छिंदवाड़ा, खरगोन में एक-एक की मौत हो गई। इसमें जबलपुर 3, भोपाल 2, शिवपुरी और ग्वालियर में एक-एक मरीज स्वस्थ्य होने पर घर भेज दिया गया।
लॉकडाउन का सभी जिलों में हो सख्ती से पालन
ख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड रोकने के लिए यह आवश्यक है कि लॉक डाउन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो। सभी कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक अपने जिलों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाना सुनिश्चित करें। कोरोना संबंधी कार्य में लगे अमले के कार्य में बाधा उत्पन्न करना तथा कोरोना को छुपाना दंडनीय अपराध है। चाहे वह व्यक्ति किसी भी वर्ग अथवा समुदाय का हो, उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। नर्स, डॉक्टर आदि के आवागमन के लिए वाहनों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में वर्तमान में लिया जाने वाला ओपीडी शुल्क आगामी आदेश तक नहीं लिया जाए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *