कोरोना लॉकडाउन से अब 14 अप्रैल तक देशभर में नहीं चलेगी कोई भी यात्री गाडी

नई दिल्ली,प्रधानमंत्री नरेंद्र द्वारा पूरे देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन का एलान करने के बाद भारतीय रेलवे ने अपनी सभी यात्री सेवाओं को 14 अप्रैल तक स्थगित रखने का फैसला किया है। रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान आवश्यक माल ढुलाई पूरे देश में जारी रहेगी। बीते रविवार को रेलवे ने यह कहते हुए अपनी सभी यात्री सेवाओं को 22 मार्च से 31 मार्च तक स्थगित करने का फैसला लिया था कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति अन्य लोगों में वायरस पहुंचा रहे हैं। रेलवे ने कहा था कि इस दौरान केवल मालगाड़ियों का ही संचालन होगा। निलंबन में उपनगरीय रेल भी शामिल थीं। रेलवे स्टेशनों पर मंगलवार को रिजर्वेशन निरस्त कराने के लिए खोली गईं खिड़कियां भी बंद कर दी गईं। बुकिंग विंडो पर इसकी सूचना भी चस्पा कर दी गई। रेलवे ने ट्रेनों के निरस्त होने के कारण रिजर्वेशन निरस्त कराने वाले यात्रियों को बगैर कटौती किए तीन माह तक रिफंड की सुविधा दी है। आगरा कैंट स्टेशन, आगरा फोर्ट स्टेशन, राजा की मंडी, ईदगाह स्टेशनों पर सोमवार तक एक-एक टिकट विंडो रिफंड वापस लेने वालों के लिए खोली गई थीं, लेकिन इन खिड़कियों पर लोगों की भीड़ लगने लगी। इसके बाद रेलवे ने मंगलवार को टिकट विंडो को भी बंद कर दिया गया। आगरा मंडल के डीसीएम एसके श्रीवास्तव ने बताया कि लोग स्टेशन नहीं आएं, इसलिए ही उन्हें बगैर कटौती के 90 दिन में रिफंड वापस लेने की सुविधा दी गई है। स्थितियों के सामान्य होने पर टिकट विंडो खोली जाएंगी। लोग रिफंड लेने के लिए परेशान नहीं हों। स्टेशनों पर सभी तरह केरेस्टोरेंट, फूड प्लाजा व स्टाल बंद हो गए हैं। मालगाड़ियों का संचालन चल रहा है। इसलिए मालगाड़ियों के चालक व गार्ड और स्टेशन का स्टाफ भी ड्यूटी कर रहा है। रनिंग रूम व गार्ड लाबी में भी ड्यूटी लगी हुई है। लेकिन कर्मचारियों को खाने का सामान नहीं मिल पा रहा है। हालांकि रनिंग रूम का मैस चल रहा है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *