जोकोविच की नजरें अब फेडरर और नडाल के रिकार्ड पर जमीं

नई दिल्ली,ऑस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस खिताब के साथ ही अपना 17वां ग्रैंडस्लैम जीतने वाले सर्बियाई खिलाड़ी नोवाक जोकोविच की नजरें अब स्विटजरलैंड के अनुभवी खिलाड़ी रोजर फेडरर के 20 ग्रैंडस्लैम और स्पेन के रफल नडाल के 19 ग्रैंड स्लैम के रिकार्ड पर लगी है। ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीतने के साथ ही एटीपी रैंकिंग में नंबर एक पर पहुंचे जोकोविच ने अब तक आठ बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीता है। सर्बिया के इस खिलाड़ी ने कहा कि अब मेरी नजरें सबसे ज्यादा ग्रैंडस्लैम जीतने का रिकार्ड बनाने पर लगी है। यही सबसे बड़ा लक्ष्य है।
जोकोविच ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थीम को हराकर आठवीं बार ग्रैंडस्लैम खिताब जीता है। वर्तमान समय में टेनिस में जोकोविच, स्पेन के रफल नडाल और स्विटजरलैंड के फेडरर के बीच कांटे की टक्कर चल रही है।
2003 में फेडरर ने पहली बार विंबलडन का खिताब जीता था। उसके बाद से नडाल ने 19, जोकोविच ने 17 और रोजर फेडरर ने 20 बार मिलकर कुल 67 ग्रैंड स्लैम खेले हैं। जिनमें से 56 में खिताबी जीत हासिल की है। जोकोविच ने इससे पहले 2008, 2011, 2012, 2013, 2015, 2016 और 2019 में भी ऑस्ट्रेलिया ओपन का खिताब जीता है। वह इसके अलावा पांच बार विंबलडन और तीन-तीन बार अमेरिकी और फ्रेंच ओपन का खिताब भी जीत चुके हैं।
जोकोविच का यह 17वां ग्रैंड स्लैम खिताब है। जोकोविच अब सर्वाधिक पुरुष एकल ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के मामले में नडाल 19 ग्रैंड स्लैम से दो और फेडरर 20 ग्रैंड स्लैम से तीन खिताब पीछे हैं।
शाकाहार, योग और ध्यान से मिला शानदार फार्म
जोकोविच को शाकाहार, योग और ध्यान के कारण ही इतनी सफलता मिली है। सर्बिया के इस टेनिस स्टार ने अपने शुरुआती दिनों में सूखे स्विमिंग पूल में अभ्यास किया था। अब वह मोंटे कार्लो में एक आलीशान घर में रहते हैं।
जोकोविच की दिनचर्या अनूठी और अनुकरणीय है। वह सूर्योदय से पहले अपने परिवार के साथ उठ जाते हैं, सूर्योदय देखते हैं और उसके बाद परिवार को गले लगाते हैं, साथ में गाते हैं और योग करते हैं। दो बच्चों के पिता जोकोविच पूरी तरह से शाकाहारी हैं।
जोकोविच ने कहा, ‘उम्मीद है कि मैं दूसरे खिलाड़ियों को शाकाहार अपनाने के लिए प्रेरित कर सकूंगा।’ 8वां ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीतने का जश्न उन्होंने पार्टी करके नहीं बल्कि शहर के बोटेनिकल गार्डन में अंजीर के पेड़ पर चढ़कर मनाया।’
पहली बार 2008 में ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीतने वाले जोकोविच ने 2011 से 2016 के बीच में 24 में से 11 ग्रैंड स्लैम जीते और सात के फाइनल में पहुंचे। इसके बाद वह खराब दौर और कोहनी की चोट से जूझते रहे लेकिन 2017 विंबलडन के बाद फॉर्म में लौटे। इस बीच उन्होंने अध्यात्म की शरण ली और लंबे ध्यान सत्रों में भाग लिया। इसने उन्हें अधिक सहनशील और संतुष्ट बनाया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *