सागर के दलित युवक धन प्रसाद की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उपचार के दौरान मौत

नई दिल्ली,मध्य प्रदेश के सागर जिले के एक दलित युवक धनप्रसाद अहिरवार ने दिल्ली में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को उसकी मौत दिल्ली के सफदरगंज हॉस्पिटल में हुई। इस दलित युवक का सागर में अपने पड़ोसियों से किसी मुद्दे पर झगड़ा हो गया था। इस मामले में एससी एसटी एक्ट में एक मामला दर्ज किया गया है। घटना के सामने आने के बाद बाद एमपी में राजनीतिक दलों ने काफी हंगामा किया था। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया था कि सरकार दोषियों को बचाने का प्रयास कर रही है। इस घायल दलित युवक को सागर जिले के अयोध्या बस्ती में जिंदा जलाने का प्रयास किया गया था। एमपी सरकार ने घायल युवक को 21 जनवरी को एयर एंबुलेंस से ले जाकर सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। इसकी जानकारी मिलने के बाद एमपी के सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर परिवार के प्रति शोक संवेदनाएं जताई है। कमलनाथ ने अपने ट्वीट में कहा है कि दुःख की इस घड़ी में परिवार के साथ सरकार खड़ी है। परिवार की हर संभव मदद के निर्देश दिए गए हैं।
सागर शहर के धर्म बाबा अम्बेडकर कॉलोनी में रहने वाले धनीराम अहिरवार को जिंदा जला दिया गया था। जानकारी के अनुसार, आरोपियों ने उसके परिवार से मारपीट करते हुए धनीराम को घेर लिया और उसे आग लगा दी थी। इस मामले में सागर की मोतीनगर पुलिस ने मामला दर्ज किया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी छुट्टू, अज्जू, कल्लू और इरफान के खिलाफ धारा 294, 323, 452, 307, 34 और एससीएसटी एक्ट में केस दर्ज किया था। मृत युवक के परिजनों ने आरोप लगाया था कि आरोपी राजीनामा करने के लिए उन पर दबाव बना रहे हैं। इस घटना के सामने आने के बाद जहां भाजपा ने कमलनाथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वहीं एमपी के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्गविजय सिंह ने इस तरह की घटनाओं की कड़ी निंदा की थी। सिंह ने अपने ट्वीट में आज के दौर में भी इस तरह की मानसिकता पर दुख प्रकट किया था। साथ ही सिंह ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *