फवाद मिर्जा को ओलंपिक का टिकट, दो दशक बाद भारत को ओलिंपिक घुड़सवारी में प्रतिनिधित्व

नई दिल्ली, भारत के फवाद मिर्जा को टोक्यो ओलंपिक के लिए प्रवेश मिल गया है। फवाद एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता हैं। इसी के साथ ही दो दशक बाद ओलिंपिक घुड़सवारी में भारत को प्रतिनिधित्व का अवसर मिला है। इससे पहले इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ इक्वेस्ट्रियन (घुड़सवारी) ने 1 जनवरी 2019 से 31 दिसंबर 2019 तक के सभी परिणामों ‌को शामिल करते हुए ताजा रैंकिंग जारी की और इसी के साथ फवाद के टोक्यो ओलिंपिक क्वालिफकेशन की पुष्टि हुई है। 27 साल के फवाद ने 2018 में एशियाई खेलों की व्यक्तिगत स्पर्धा में रजत पदक जीता था। उन्होंने पिछले साल अपने पहले घोड़े फेर्नहिल फेसटाइम से 34 और दूसरे घोड़े टचिंगवुड से 30 अंक बनाए। फवाद मिर्जा ने अपने पहले घोड़े से 34 और दूसरे घोड़े से 30 अंक बनाए थे।
ओलिंपिक का टिकट हासिल करते ही फवाद से देश की उम्मीदें बढ़ गई हैं। उनसे पहले इम्तियाज अनीस और विंग कमांडर आईजे लांबा ने ओलिंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। अनीस 2000 सिडनी में और लांबा 1996 अटलांटा ओलिंपिक में उतरे थे। फवाद ने ओलिंपिक का टिकट हासिल करने के लिए चार स्टार लेवर टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया। यह एक विस्तृत रैंकिंग प्रणाली पर आधारित थी। इसके अनुसार एक घुड़सवार को पूरे साल टूर्नामेंट में हिस्सा लेकर अंक जोड़ने होते हैं। फवाद से पहले सिर्फ दो घुड़सवार ही ओलिंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर पाए हैं। ओ‌लिंपिक टिकट हासिल करने पर फवाद ने कहा कि वह उत्साहित हैं, मगर अभी काफी काम करना बाकी है. उन्होंने कहा कि वो जितना बेहतरीन दे सकते हैं, अब वे उसकी तैयारी करेंगे और टूर्नामेंट में शानदार लय के साथ प्रवेश करेंगे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *