इन्दौर में ही एचआईवी, स्वाइन फ्लू और अन्य वायरल बीमारियों की जांच हो सकेगी

इन्दौर, चिकित्सा क्षेत्र में आज इन्दौर को बड़ी सौगातें प्राप्त हुई है। इन्दौर के महात्मा गांधी स्मृति मेडिकल कॉलेज में लगभग पौने 6 करोड़ रुपए की लागत से नवनिर्मित वायरल रिसर्च डायग्नोस्टिक लैब, वायरल लोड लैब और सुसज्जित ऑडिटोरियम का चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने आज यहां लोकार्पण किया। इस अवसर पर संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी, मेडिकल कॉलेज इन्दौर की डीन डॉ. ज्योति बिंदल, एमवाय अस्पताल के अधीक्षक डॉ. ए.डी. भटनागर आदि उपस्थित थे। इन लैब्स की स्थापना से इन्दौर में ही अब स्वाइन फ्लू और अन्य वायरल बीमारियों तथा एचआईवी की जांच हो सकेगी। पहले इन जाँचों के लिये सेम्पल बाहर भेजना पड़ते थे। डॉ.‍ विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि इस तरह की लैब प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में स्थापित की जायेगी।
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कार्यक्रम को सम्बोध‍ित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार में प्रदेश में कोई कोर-कसर नहीं रखी जाएगी। हर व्यक्ति तक स्वास्थ्य सुविधाएं एवं स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाना हमारा प्राथमिक दायित्व है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार तेजी से हो रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में तेजी से विकास के काम शुरू किए गए हैं। इन्दौर के मेडिकल कॉलेज एवं एमवाय अस्पताल की प्रदेश ही नहीं देश में विशेष पहचान है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में अंगदान के क्षेत्र में भी उत्कृष्ट कार्य किए जा रहे हैं। अंगदान के लिए बने एक्ट को फरवरी 2019 के बाद नए स्वरूप में लागू किया जा रहा है। इस एक्ट के क्रियान्वयन से प्रदेश में बड़ी उपलब्धि प्राप्त हो रही है। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के हर मेडिकल कॉलेज में वायरोलॉजी लैब स्थापित की जाएगी। भोपाल के बाद इन्दौर के मेडिकल कॉलेज में यह लैब स्थापित हो गई है। प्रदेश के अन्य मेडिकल कॉलेजों में भी शीघ्र ही इस तरह की लैब स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन्दौर के मेडिकल कॉलेज में स्नातक एवं स्नातकोत्तर की सीटें दोगुना करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *