दक्षिण अफ्रीका के साथ भारत का दूसरा टेस्ट कल से, टीम इंडिया टेस्ट जीतकर सीरीज अपने नाम करने उतरेगी

पुणे, भारतीय टीम गुरुवार को यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरा क्रिकेट टेस्ट मैच खेलने उतरेगी। भारतीय टीम ने तीन मैचों की सीरीज में पहले ही 1-0 की बढ़त बना ली है। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का लक्ष्य इस मैच को जीतकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल करना रहेगा। वहीं भारतीय टीम इस सीरीज के अगले दोनों मैच जीतती है तो उसके नाम एक खास रिकार्ड होगा।
विराट के नेतृत्व में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में 4 टेस्ट मैच जीत चुकी है। यदि भारत ने अगले दोनों मैच जीत लिए तो यह संख्या 6 तक पहुंच जाएगी और विराट इसी के साथ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने वाले दुनिया के पहले कप्तान बन जाएंगे। अभी यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के बिल विलफुड के नाम दर्ज है, जिनके नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया ने 1931-32 में द. अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में 5 टेस्ट मैच जीते थे।
टीम इंडिया इस मैच में भी जीत की प्रबल दावेदार है क्योंकि उसके बल्लेबाज और गेंदबाज दोनो ही लय में हैं। पहले टेस्ट में टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने दोनो पारियों में शतक लगाया था जबकि युवा मयंक अग्रवाल ने दोहरा शतक लगाया। इसके अलावा चैतेश्वर पुजारा भी ने भी दूसरी पारी में शानदार अर्धशतकीय पारी खेली। गेंदबाजी की बात करें तो भारत के तेज गेंदबाजों और स्पिनरों दोनो के सामने मेहमान दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज टीक नहीं पाये। ईशांत शर्मा, मो शमी रविन्द्र जडेजा और आर अश्विन के सामने दक्षिणी अफ्रीकी बल्लेबाजों को संभलने का अवसर नहीं मिला। द. अफ्रीका की युवा टीम पहले के मुकाबले अनुभवहीन है और पहले टेस्ट में उसके प्रदर्शन को देखते हुए इस सीरीज में भारतीय टीम की जीत तय नजर आ रही है। । रोहित ने लगातार दो शतक जमाकर टेस्ट क्रिकेट में एक बेहतरीन सलामी बल्लेबाज के रूप में उभरने के संकेत दिए हैं। मयंक भी उम्मीद के अनुसार बल्लेबाजी कर रहे हैं। विशाखापत्तनम में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला दोहरा शतक जड़ा जिससे कम से कम घरेलू हालात में तो भारत की शीर्षक्रम की समस्या सुलझाती नजर आ रही है। रोहित और मयंक के अलावा भारत के पास कोहली, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी जैसे बल्लेबाज भी हैं।
अश्विन और जडेजा के रूप में विश्व स्तरीय स्पिनर हैं। दूसरी ओर पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के लिये डीन एल्गर और क्विंटोन डिकाक ने भले ही शतक जमाया पर अश्विन और जडेजा से पार पाना दक्षिण अफ्रीका के लिये आसान नहीं होगा। इसके अलावा धीमे विकेटों पर नयी और पुरानी गेंद से शमी का शानदार प्रदर्शन भी भारत के पक्ष में रहा है। इसके अलावा अनुभवी ईशांत शर्मा ने भी उनका बखूबी साथ दिया।
दोनों का तालमेल ऐसा था कि जसप्रीत बुमराह की कमी महसूस नहीं हुई। इस मैच में भी भारतीय टीम के अंतिम एकादश में बदलाव होने की संभावनाएं नहीं हैं। वहीं दक्षिण अफ्रीका को अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी में सुधार करना होगा। इस मैच में मेहमान टीम गेंदबाज सेनुरान मुथुस्वामी और डेन पीट में से एक को बाहर कर सकती है। दोनों की रोहित ने जमकर पिटाई करके रिकार्ड 13 छक्के लगाये थे। मुथुस्वामी की जगह पर जुबैर हमजा को जगह मिल सकती है। पीट बाहर होते हैं तो लुइंगी एंगिडि टीम में शामिल हो सकते हैं।
दोनों टीमें इस प्रकार है।
भारत: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, रिद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, इशांत शर्मा और शुभमन गिल।
दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), तेम्बा बावुमा, थ्युनिस डि ब्रुयिन, क्विंटन डिकाक, डीन एल्गर, जुबैर हमजा, केशव महाराज, एडन मार्कराम, सेनुरन मुथुसामी, लुंगी एनगिडी, एरिक नॉर्टजे, वरनन फिलेंडर, डेन पीट, कागिसो रबादा और रूडी सेकेंड।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *