अबकी बार ट्रम्प सरकार, अमेरिका के ह्यूस्टन में मोदी ने 50 हजार लोगों को सम्बोधित किया, आधा घंटा बोले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प

ह्यूस्टन, ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अबकी बार ट्रम्प सरकार का नारा देकर भारतवंशियों को एक तरह से ट्रम्प का समर्थन करने का संकेत दे दिया। पीएम मोदी ने जमकर ट्रंप की तारीफ की। मोदी ने कहा कि ट्रंप ने 2017 में मुझे अपने परिवार से मिलाया था। लेकिन मुझे आज उन्हें अपने परिवार के हजारों सदस्यों से मिलाने का मौका मिला है। इस दौरान ट्रंप ने कहा, ‘आज मुझे अपने विश्वस्नीय दोस्त से मिलकर अच्छा लगा रहा है। उनके साथ यहां मौजूद होने का सौभाग्य मिला। कुछ महीने पहले दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने पीएम मोदी को चुना। मैं पीएम मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं देता हूं। इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में आकर खुश हूं।’
ट्रंप ने कहा, ‘पीएम मोदी और मैं भारत और अमेरिका को जोड़ने वाले संबंधों का जश्न मनाने आए हैं। भारत के लोगों को अमेरिका में होना सौभाग्य की बात है। मुझे आपसे प्यार है। मैंने कहा था कि वाइट हाउस में भारत एक विश्वस्नीय दोस्त है। मैं यह बात भी कह सकता हूं कि आपको भी डॉनल्ड ट्रंप से अच्छा दोस्त नहीं मिलेगा। पीएम मोदी यह बात जानते हैं। दोनों देशों के संविधान तीन शब्दों से शुरू होते हैं वी द पीपल। पीएम मोदी के नेतृत्व में लोगा उभरता हुआ भारत देख रहे हैं। मोदी के नेतृत्व में भारत 30 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाल पाया है।’
इससे पहले पीएम मोदी ने ट्रंप की तारीफ करते हुए कहा, ‘आज हमारे साथ एक बहुत खास मेहमान हैं। उनके परिचय की कोई जरूरत नहीं है। धरती पर मौजूद हर व्यक्ति उनका नाम जानता है। उनका नाम वैश्विक राजनीति की हर बातचीत में आता है। उनकी बातें करोड़ों लोग फॉलो करते हैं। सीईओ से कमांडर इन चीफ, बोर्ड रूम से ओवल ऑफिस तक उन्होंने हर जगह अपनी छाप छोड़ी है। आज वह हमारे साथ हैं। मेरे लिए सम्मान की बात है कि मैं यहां उनका स्वागत कर रहा हूं।’
पीएम ने कहा, ‘मैं कह सकता हूं कि मुझे उनसे कभी कभी मिलने का मौका मिलता है। हर बार मैं उनमें एनर्जी मित्रता पाता है। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप। जैसा कि मैने कहा था कि हम कई बार मिले हैं, और हर बार वह इसी तरह दोस्ती से भरपूर होते हैं। लेकिन मैं अमेरिका के लिए उनके पैशन को लेकर मैं उनका प्रशंसक हूं। वह अमेरिका को फिर से महान बनाने निकले हैं। उन्होंने अमेरिका की अर्थव्यवस्था को मजबूत करके दिखाया है। कैंडिडेट ट्रंप ने अपने चुनाव में कहा था कि अबकी बार ट्रंप सरकार। वाइट हाउस में उन्होंने धूमधाम से दिवाली मनाई। जब मैं पहली बार मिला था तो उन्होंने कहा था कि भारत वाइट हाउस में एक सच्चा दोस्त है। आज आपकी मौजूदगी इस बात का सबूत है। इन सालों में हमारे दोनों देशों ने संबंधों को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। राष्ट्रपति ट्रंप आज इन संबंधों के दिल की धड़कन सुन सकते हैं।’
पीएम मोदी ने कहा, ‘भारत में रविवार रात होने के बावजूद भी लोग अपने टीवी चैनलों से जुड़े हैं। वे आज इतिहास बनते हुए देख रहे हैं। राष्ट्रपति जी आपने मुझे 2017 में अपने परिवार से मिलाय था। आज मुझे आपको अपने परिवार से मिलाने का मौका मिला है।’
इस पूर्व मंच पर मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ग्रैंड एंट्री ली। मंच पर पहुंचने से पहले ट्रंप ने भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर से मुलाकात की। ढोल की आवाज में पीएम मोदी और ट्रंप मंच पर पहुंचे। दोनों के मंच पर पहुंचने के बाद दोनों देशों का राष्ट्रगान हुआ। भारत के प्रधानमंत्री जिस समय मंच पर पहुंचे उस समय पूरा एनआरजी स्टेडियम मोदी-मोदी की आवाज से गूंज उठा। पीएम मोदी ने मंच पर अमेरिकी अधिकारियों से मुलाकात की। इसके बाद अमेरिकी प्रतिनिधि स्टेनी होयर ने अपने भाषण से कार्यक्रम की शुरुआत की।
होयर ने कहा, ‘हम दोनों ही देशों का संविधान तीन शब्दों से शुरू होता है, वी द पीपल।’ उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका कई मामलों में एक समान हैं। भारत और अमेरिकी लोकतंत्र का विचार महात्मा गांधी की परिभाषा पर आधारित है। हमारे संबंधों का केंद्र व्यक्ति से व्यक्ति का संवाद है। आप लोगों की वजह से ही भारत हमारा साझीदार और विश्वस्नीय दोस्त भी है। भारत और अमेरिका एक साथ एक-दूसरे को प्रोत्साहित करते रहेंगे।
हाउडी मोदी के बाद दुनियाभर में भारत की उभरती पहचान की चर्चा शुरू हो चुकी है। यह कार्यक्रम ऐसे समय में हुआ है, जबकि पाकिस्तान सहित देशभर के राष्ट्रप्रमुख संयुक्त राष्ट्र महासभा में शामिल होने अमेरिका में डेरा जमाये हैं। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्वशक्ति कहे जाने वाले अमेरिका में भारत का डंका बजा दिया। संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में शामिल होने के लिए सात दिवसीय दौरे पर शनिवार को अमेरिका पहुंचे मोदी ने रविवार को ह्यूस्टन में हाउडी मोदी नामक कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम में करीब 50 हजार लोग मौजूद थे।  हाउडी मोदी के बाद दुनियाभर में भारत की उभरती पहचान की चर्चा शुरू हो चुकी है। यह कार्यक्रम ऐसे समय में हुआ है, जबकि पाकिस्तान सहित देशभर के राष्ट्रप्रमुख संयुक्त राष्ट्र महासभा में शामिल होने अमेरिका में डेरा जमाये हैं।
क्या है हाऊडी मोदी
ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में टेक्सास इंडिया फोरम ने हाउडी मोदी कार्यक्रम आयोजित किया था।
अमेरिकी सरकार के दिग्गज भी आए

ह्यूस्टन में भारतीय समुदाय के साथ पीएम मोदी

अमेरिका की डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टी के 60 से ज्यादा बड़े नेता इस कार्यक्रम में पहुंचे। लॉ मेकर, कांग्रेसमैन और गवर्नर भी कार्यक्रम में आए।
कश्मीरी पंडित बोले- कश्मीर पर हर फैसले में हम आपके साथ
मोदी से मिलने कश्मीरी पंडित भी पहुंचे। कश्मीरी पंडितों से मिलने के दौरान पीएम मोदी भी भावुक नजर आए। बातचीत के दौरान कश्मीरी पंडितों के समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले सुरिंदर कौल ने उनका हाथ चूम लिया। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले का स्वागत करते हुए पीएम मोदी से कहा कि जम्मू कश्मीर के विकास के लिए जाने वाले हर कदम में आपके साथ हैं।
विरोध की संभावना
न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक होनी है। न्यूयॉर्क पुलिस के मुताबिक, मोदी-विरोधी रैली के लिए तीन समूहों ने अनुमति मांगी है। इनमें पाकिस्तान के समर्थन वाला एक संस्थान भी शामिल है। पुलिस के मुताबिक, इन प्रदर्शनों में 7 हजार लोग जुट सकते हैं।
भारत-अमेरिका में हुए समझौते

ह्यूस्टन में ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़े कारोबारी सौदे पर हस्ताक्षर हुए।

अमेरिका में प्रधानमंत्री की मौजूदगी में ह्यूस्टन में ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़े कारोबारी सौदे पर हस्ताक्षर हुए। भारत ने टेल्यूरियन और पेट्रोनेट के साथ लिक्विफाइड नेचुरल गैस (एलएनजी) के लिए मेमोरैंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। सौदे के तहत पांच मिलियन टन एलएनजी के लिए एमओयू साइन किया गया है। यह डील ह्यूस्टन के होटल पोस्ट ओक में ऊर्जा क्षेत्र के सीईओ के साथ बैठक में साइन की गई। इस सौदे को अंजाम देने के लिए ट्रैन्जैक्शन एग्रीमेंट को मार्च 2020 तक अंतिम रूप देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। गौरतलब है टेल्यूरियन ने फरवरी में पेट्रोनेट एलएनजी लिमिटेड इंडिया (पीएलएल) के साथ एमओयू साइन करके पीएलएल ड्रिफ्टवुड परियोजना में निवेश की संभावनाएं तलाशने का एलान किया था।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *