कोर्ट में बलात्कार पीड़ित छात्रा का बयान दर्ज होने के बाद चिन्मयानंद की तबियत बिगड़ी

शाहजहांपुर,पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली विधि छात्रा का न्यायालय में बयान लिया गया। बयान के बाद स्वामी चिन्मयानंद की तबीयत खराब हो गई। कथित पीड़िता को कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) गीतिका सिंह की अदालत में ले जाकर बयान दर्ज कराया गया। छात्रा का मजिस्ट्रेट ने करीब 12 पेज में बयान दर्ज किया है। उसने दिल्ली में जीरो पर दर्ज रिपोर्ट, उसके हॉस्पिटल के कमरे से चिप और चिन्मयानंद के मालिश वाले वीडियो शूट करने में इस्तेमाल चश्मे के चोरी होने तथा अन्य साक्ष्यों का जिक्र भी अपने बयान में किया है। छात्रा के मुताबिक स्वामी चिन्मयानंद के बेडरूम से चादर, गद्दा, शराब की बोतलें आदि जो साक्ष्य गायब कर दिए गए थे, उनका जिक्र भी उसने न्यायालय में दिए गए बयान में किया है। इस बीच, कथित पीड़िता का बयान होने के बाद शाम को स्वामी चिन्मयानंद की तबीयत खराब हो गई। मेडिकल कॉलेज के तथा प्राइवेट डॉक्टरों की टीम उनके आवास पर उनका इलाज कर रही है। डाक्टरो ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि स्वामी चिन्मयानंद की तबीयत खराब हो गई है। इसी के चलते डाक्टरो की टीम ने स्वामी चिन्मयानंद के दिव्य धाम में आकर उनका उपचार किया। इस दौरान एक प्राइवेट नर्सिंग होम से चार डॉक्टरों की एक टीम भी बुलाई गई थी स्वामी चिन्मयानंद की हालत फिलहाल स्थिर बताई जा रही है। मालूम हो कि स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की एक छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल करके चिन्मयानंद पर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने एवं उसे तथा उसके परिवार को जान का खतरा बताया था। इसके बाद लड़की लापता हो गई थी। इस मामले में चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया था। बाद में राजस्थान में बरामद की गई छात्रा ने चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप भी लगाया था। इस सिलसिले में उसने पुलिस पर रिपोर्ट दर्ज न करने का इल्जाम भी लगाया था। उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर गठित एसआईटी इस मामले की जांच कर रही है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *