राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पाक, चीन सहित 84 देशों में लगाईं गई

 

नई दिल्ली, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ऐसे विरले महापुरुष हैं, जिनके प्रशंसक हिंदुस्तान सहित पूरी दुनिया में हैं। 84 देशों में उनकी 110 से अधिक प्रतिमाएं लगी हुई हैं। इनमें पाकिस्तान, चीन, ब्रिटेन, अमेरिका और जर्मनी से लेकर कई अफ्रीकी देश शामिल हैं। विदेश मंत्रालय की वेबसाइट पर जारी आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका में बापू की आठ प्रतिमाएं और जर्मनी में 11 प्रतिमाएं स्थापित हैं । बापू की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रूस और कम्युनिस्ट देश चीन तक में उनकी मूर्तियां स्थापित हैं। स्पेन के बुर्गस शहर में महात्मा गांधी की प्रतिमा लगाई गई है। स्पेन इसे अपने प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में प्रचारित करता है। ब्रिटेन के लिसेस्टर में महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थापित है। वहीं अमेरिका के वाशिंगटन के बेलेवुए में बापू की आदमकद प्रतिमा स्थापित है । मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबकि, दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी की तीन प्रतिमाएं स्थापित हैं, जहां बापू ने सबसे पहले सत्याग्रह का प्रयोग किया था ।
– गांधी-मंडेला ने वकालत के अनुभव का किया इस्तेमाल
महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेला ने दमन के खिलाफ संघर्ष के दौरान वकालत के अनुभव का इस्तेमाल किया। दक्षिण अफ्रीका विश्वविद्यालय में वकील के तौर पर गांधी और मंडेला शीर्षक पर आयोजित पैनल चर्चा में वक्ताओं ने यह विचार प्रकट किए। उन्होंने गांधी और मंडेला के दृष्टिकोण में समानताओं का उल्लेख किया। 150वीं जयंती मना रहे इस वर्ष देश और दुनिया महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रही है। विदेश मंत्रालय ने साल 2018 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर साल भर के लिए गतिविधियां शुरू की थी। यह गतिविधियां इस वर्ष दो अक्तूबर को बापू की जयंती पर पूरी होंगी। इनमें उनकी कथाओं का संकलन हैं।
इन देशों में बापू की प्रतिमा
विदेश मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, बापू की प्रतिमाएं इराक, इंडोनिशया, फ्रांस, मिस्र, फिजी, इथोपिया, घाना, गुयाना, हंगरी, जापान, बेलारूस, बेल्जियम, कोलंबिया, कुवैत, नेपाल, मालावी, न्यूजीलैंड, पोलैंड, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर, सर्बिया, मलेशिया आदि।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *