जेल में कैदी नंबर-1449 बने पी चिदंबरम को जेल में रोटी से ज्यादा दाल और चावल भा रहा

नई दिल्ली,आईएनएक्स मामले में तिहाड़ की जेल नंबर-7 की सलाखों के पीछे पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम जेल की रोटी नहीं खा रहे हैं। उन्हें रोटी से ज्यादा दाल और चावल भा रहे हैं। वह जेल के विचाराधीन कैदी नंबर-1449 बने हैं। तिहाड़ जेल से उन्हें यह रजिस्ट्रेशन नंबर दिया गया है। जेल में वह उमस और गर्मी से परेशान हैं। इस जेल में रह-रहकर आने वाली बदबू से भी उन्हें परेशानी हो रही है। तिहाड़ जेल के अडिश्नल आईजी राजकुमार का कहना है कि अभी कुछ दिन पहले जब उन्होंने जेल नंबर-7 का दौरा किया था तब बदबू नहीं आ रही थी। अगर कोई कैदी शिकायत करता है तो गौर किया जाएगा। इस तरह से बदबू आने वाली कोई शिकायत अभी तक चिदंबरम ने जेल प्रशासन से नहीं की है। हालांकि, जेल सूत्रों का कहना है कि केवल इसी जेल से ही नहीं बल्कि तिहाड़ की अन्य कई जेलों में भी स्मेल आती है। इसका एक बड़ा कारण यहां कैदियों की बढ़ती भीड़ है। इसी जेल नंबर-7 की ही बात की जाए तो इसमें कैदियों को रखने की क्षमता 350 की है लेकिन यहां करीब 650 कैदी बंद हैं। इनमें विचाराधीन और सजायाफ्ता दोनों ही तरह के कैदी बंद हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *