आईएसएस उमेश प्रताप को पत्नी की मौत के मामले में फोरेंसिक रिपोर्ट में मिली क्लीन चीट

लखनऊ, अपनी पत्नी की मौत के एक मामले में आईएसएस उमेश प्रताप सिंह को क्लीनचिट मिल गई है। उनके उपर पत्नी की हत्या का प्रकरण दर्ज हो गया था। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चिनहट के विकल्पखंड स्थित सूडा के निदेशक उमेश प्रताप सिंह की पत्नी अनीता की मौत बीते दिनों हो गई थी।मामले में विधि विज्ञान प्रयोगशाला ने अपनी रिपोर्ट एसएसपी लखनऊ को भेज दी है, रिपोर्ट में बताया गया है कि अनीता ने खुदकुशी की है। इससे पहले उमेश सिंह ने अपर मुख्य सचिव गृह को पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने खुद को बेक़सूर बताया है और मामले में जांच की बात कही है।
रिपोर्ट के मुताबिक सामान्य परिस्थितियों में गोली लगने की जगह छोटा सुराख होता है और निकास के जगह बड़ी। लेकिन नजदीक से गोली लगने की स्थिति में घाव का आकार बड़ा होता है और निकास की जगह छोटा होना संभव है। पोस्टमॉर्टम में मृतका के शरीर पर आई गोली का घाव स्वत: कारित किए जाने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। मृतका व उनके पति का हैंडवॉश कराया गया, लेकिन किसी में गन पाउडर के साक्ष्य नहीं मिले। विधि विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट में साफ कहा गया कि घटनास्थल पर पुर्नसंरचना, मृतका के बेटे, बेटी, नौकर, पिता के बयान में बताये गये तथ्य, सभी एक-दूसरे से मेल हो रहे हैं। जिस कारण हत्या का होना नहीं पाया जा रहा है। यह पहली बार हुआ है कि विधि विज्ञान प्रयोगशाला ने महज कुछ घंटों में अपनी रिपोर्ट पुलिस को सौंपी है। आईएएस अफसर ने मृतका के चचेरे भाई राजीव सिंह के खिलाफ मानहानि और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाते हुए चिनहट कोतवाली में तहरीर दे दी है। उमेश ने राजीव सिंह के भाई और दयाल पैराडाइज के मालिक राजेश सिंह पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। आईएएस उमेश प्रताप सिंह ने अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी से एडीजी बीके सिंह के खिलाफ शिकायत करते हुए अपनी सुरक्षा की मांग की है। उमेश ने कहा है कि राजीव कुमार सिंह अपने बहनोई एक सीनियर आईपीएस अधिकारी के प्रभाव का प्रयोग करके उनके खिलाफ साजिश कर रहे हैं। वहीं, मृतका की बेटी उपासना सिंह ने एक सीनियर आईपीएस अधिकारी पर आरोप लगाया है कि उनके इशारे पर साजिश के तहत पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है और पूरे परिवार को जान का खतरा है। बता दें कि बीते दिनों सूडा में डायरेक्टर के पद पर तैनात आईएएस उमेश सिंह की पत्नी अनीता की गोली लगाने से संदिग्ध मौत हुई थी। शुरुआती जांच में पुलिस इसे सुसाइड मान रही थी, लेकिन मृतका के चचेरे भाई राजीव के आरोप पर पुलिस ने आईएएस पति के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *