छिंदवाड़ा में पेंच, कन्हान, जाम, कुलबेहरा सहित ग्रामीण क्षेत्रों के नदी नाले उफान पर, जिले में कल बंद रहेंगे स्कूल

छिंदवाड़ा, लगातार बारिश ने जिले में पानी का खजाना भर दिया है। जिले का सबसे बड़ा माचागोरा बांध और कन्हरगांव जलाशय ओवर फ्लो होने की नौबत पर है माचागोरा बांध से लगातार पेंच नदी में पानी छोड़ा जा रहा है। इसके अलावा जिले की 11जनपदों के गांवों में बने 272छोटे बड़े जलाशय भी लबालब है और जिले की पेंच, कन्हान, जाम, कुलबेहरा सहित ग्रामीण क्षेत्रों के नदी नाले उफान पर है। बांधों और जलाशयों की स्थिति निर्धारित क्षमता से अधिक जलभंडारण की बन गई है। पिछले दो दिनों की लगातार बारिश ने जिले में विकराल हालात भी खड़े कर दिए है। नदी नालों के उफान पर होने से ग्रामीण क्षेत्रों के अधिकांश रास्ते बंद है वहीं ग्रामीण जनजीवन भी प्रभावित है। जिले के नागपुर ,भोपाल, बैतूल, सिवनी और नरसिंहपुर मार्ग पर नदियों के पुलों के हालात ये है कि पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। इन हालातों में क्षेत्रीय थानों की पुलिस की डयूटी पुल पर लगा दी गई है ताकि किसी तरह की जन,धन हानि ना हो । जिले में अभी तक 978.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है जबकि गत वर्ष इसी अवधि तक 705.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई थी । जिले में अकेले पिछले 24घंटों में 8 सितंबर को प्रात: 8 बजे तक 27.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिले की औसत बारिश लगभग 1250मिलीमीटर है अभी भी जिले में 3सौ मिमी बारिश कम है लेकिन मौजूदा हालात से पूरा जिला पानी-पानी हो गया।
फिर खोलना पड़ा माचागोरा बांध के आठों गेट-
पेंच नदी पर जिले की चौरई तहसील के माचागोरा में बने सबसे बड़े बांध के आंठो गेट को रविवार की रात्रि 8बजकर 3मिनिट पर फिर खोलना पड़ा है। जुन्नारदेव और तामिया क्षेत्र में लगातार बारिश के चलते पेंच नदी उफान पर है और नदी का पानी माचागोरा बांध में एकत्र हो रहा है बांध की क्षमता के मुताबिक उसमें केवल 90प्रतिशत पानी का भंडारण ही किया जा सकता है लेकिन क्षमता से अधिक पानी होने पर जलसंसाधन विभाग बांध के गेंटें को खोलकर लगातार पेंच नदी में पानी बहा रहा है वहीं सिवनी नहर को भी लगातार पानी दिया जा रहा है। बांध में पानी का भंडारण इतना बढ़ रहा है कि विभाग को एक बार फिर बांध के आठों गेट खोलने पड़े है। माचागोरा बांध जिले में सबसे बड़ा बांध है इस बांध के डूब क्षेत्र में 33गांव आते है जिनमें अब तक 7गांव पूरी तरह डूब चुके है वहीं अन्य गांव आंशिक है लेकिन लगातार बढ़ रहे पानी से बांध का डूब क्षेत्र तेजी से बढ़ रहा है जलसंसाधन विभाग बांध के गेट खोलकर हालातों के नियंत्रण में लगा है।
कन्हरगांव जलाशय भी ओवर .फ्लो-
शहर की पेयजल आपूर्ति के त्रोत और 24गांवों तक नहरों के माध्यम से सिंचाई के मुख्य साधन कन्हरगांव जलाशय को गर्मी के बाद इस बरसात में नया जीवन दान दे दिया है अब तक स्थिति में कन्हरगांव जलाशय भी ओव्हर फ्लो हो रहा है जलाशय की क्षमता 7सौ 14एमसीएफटी की है और इसमें इससे कहीं ज्यादा पानी आ चुका है। यही हालात बिछुआ, मोहखेड,चौरई, अमरवाडा, तामिया, हर्रई, जुन्नारदेव सहित अन्य ब्लॉकों के गांवों के जलाशय के भी
सबसे ज्यादा बारिश तामिया में
जिले में अभी तक सबसे ज्यादा बारिश तामिया ब्लॉक में दर्ज की गई है यहां अब तक 1592 .3मिलि मीटर बारिश दर्ज की जा चुकी है। वहीं सबसे कम बारिश चांद में दर्ज हुई है चांद अब तक केवल 684.7एमएम बारिश रिकार्ड की गई है। जिले में अब तक 978.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। जबकि गत वर्ष इसी अवधि तक 705.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई थी । जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान 27.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।
इधर, दो दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा कक्षा एक से आठ तक के विद्यालयों के लिए एक दिन का अवकाश घोषित कर दिया है। डीईओ अरविंद चौरागढ़ ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर सभी शासकीय अशासकीय विद्यालयों के कक्षा एक से आठ तक के स्कूलों बच्चों को 9 सितंबर को अवकाश दिया गया है। लेकिन कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल लगाए जाएंगे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *