विपक्ष का घाटी में आकर राजनीति करना ठीक नहीं – सत्यपाल मलिक

श्रीनगर,अनुच्छेद 370 हटने के करीब 20 दिनों बाद शनिवार को हालात देखने श्रीनगर पहुंचे विपक्षी दलों के एक प्रतिनिधिमंडल को एयरपोर्ट से ही वापस भेज दिया गया। इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी के साथ गुलाम नबी आजाद, एनसीपी नेता माजिद मेमन,सीपीआई नेता डी.राजा के अलावा शरद यादव सहित अन्य 11 नेता पहुंचे थे। इस पूरे घटनाक्रम पर गवर्नर सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है।राज्यपाल मालिक ने कहा कि यहां उनकी (राहुल गांधी) कोई जरूरत नहीं है। अगर यहां आकर वह राजनीति करना चाहते हैं, तो यह ठीक नहीं है।
गवर्नर ने कहा,उनकी जरूरत संसद में थी, जब उनके सहयोगी संसद में बोल रहे थे। यहां आकर वह हालात और बिगाड़ना चाहते हैं तो यह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा, मैंने राहुल गांधी को सद्भाव के नाते बुलाया था, मगर राहुल गांधी ने इस संवेदनशील मामले पर राजनीति करना शुरू कर दिया। इन लोगों का यहां आना पूरी तरह राजनीति से प्रेरित था। राजनीतिक दलों को चाहिए कि वे राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों को राजनीति से दूर रखें।’
राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद को इससे पहले भी दो बार वापस भेजा जा चुका है। विपक्षी नेताओं के दल के रवाना होने से पहले आजाद ने अपने घर पर मीडिया से बात की। उन्होंने सरकार के कश्मीर पर विपक्षी दलों द्वारा राजनीति करने के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा,जिन्हें राजनीति करनी थी उन्होंने राजनीति कर दी। राज्य के दो टुकड़े कर दिए। हम वहां जाना चाहते हैं ताकि सरकार की मदद कर सकें। विपक्षी नेता भी कानून को समझने और उसका पालन करनेवाले लोग होते हैं।’

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *