उमरिया डकैती और हत्या मामले में पुलिस को अब बार-बार ठिकाने बदल रहे देवा की तलाश

छिंदवाड़ा, मोहखेड़ थाने की उमरानाला चौकी से पुलिस कर्मियों पर हमला कर भागे उमरिया डकैती-हत्या कांड के आठ आरोपियों में से सात आरोपियों के पकड़े जाने के बाद पुलिस को अब घटना के मुख्य सरगना देवा की तलाश है। देवा को पकड़ने एसपी मनोज राय ने तीन अलग-अलग टीमें बनाई है जो उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। देवा पर पुलिस ने 50 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया है। वहीं उसके सात साथियों के पकड़े जाने के बाद देवा भी बार-बार अपना ठिकाना बदल रहा है। पुलिस का दावा है कि वह आरोपी देवा के करीब पहुंच गई है और किसी भी वक्त उसे दबोच लिया जाएगा, लेकिन उसके बार-बार जगह बदलने से उन्हें थोड़ी परेशानी जरूर हो रही है। बावजूद इसके आरोपी देवा की गिरफ्तारी जल्द ही कर ली जाएगी। गौरतलब है कि मंगलवार-बुधवार 6 और 7 अगस्त की दरमियानी रात करीब एक बजे संतरी पहरा में लगे पुलिस कर्मी को आरोपियों के द्वारा फ्रेश होने के लिए पानी लाने कहकर धोखे से बुलाया गया था जैसे ही आरक्षक लॉक-अप का गेट खोलकर उन्हें पानी देने लगा उसी समय आरोपियों ने योजनाबद्ध तरीके से आरक्षक राजकिशोर को जान से मारने की नियत से लॉक-अप के अंदर खींचकर मारपीट की थी। बाद में आरोपियों ने आरक्षक के जेब में रखी चाबी निकाली और उसे लॉक-अप में बंद कर दिया। चाबी से चैनल गेट का लॉक खोलकर सभी आठ आरोपी फरार हो गए थे। फरार आरोपियों में से तीन आरोपी जिनमें मोनू उर्फ भूरामल ठाकुर, बड्डो उर्फ राजकुमार केराम तथा रवि उर्फ महाराज दुबे को महाराष्ट्र पुलिस की सहायता से छिंदवाड़ा पुलिस द्वारा नागपुर में गिरफ्तार कर लिया गया था, जबकि एक आरोपी गोलू उर्फ श्रवण खापरे को बुधवार की रात मोहखेड़ थाना क्षेत्र के ग्राम चारगांव करबल से ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने दबोच लिया। जबकि तीन अन्य आरोपियों में से भूरा ठाकुर को मंडला के नैनुपर से जबकि दो आरोपी रमेश रोजगारी और चेतन गायधने को छिंदवाड़ा के उभेगांव से पकड़ा था। बॉक्स
हर दिन अधिकारी करेंगे जेल वार्ड की चैकिंग
उमरानाला पुलिस चौकी से पुलिस कर्मियों पर हमला कर फरार होने की इस घटना में गंभीर रूप से घायल हुए रमेश को उपचार के लिए जेल वार्ड में भर्ती कराया गया है। पुलिस अब इन आरोपियों पर किसी तरह का रिस्क लेना नहीं चाहती। जेल वार्ड में उसकी सुरक्षा में एक-चार की गार्ड तैनात की गई है। इसके अलावा पुलिस का एक अधिकारी प्रतिदिन आरोपी रमेश और डय़ूटी पर तैनात चैकिंग कर रहा है। मंगलवार शाम कोतवाली टीआई विनोद कुशवाह अचानक जेल वार्ड पहुंचे यहां पहुंचकर उन्होंने पुलिसकर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। साथ ही आरोपी रमेश के इलाज की व्यवस्था भी देखी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *