यूपी में अब थाने-चौकी के चक्कर नहीं लगाने होंगे, एक क्लिक में होगी एफआईआर

लखनऊ, लूटपाट, चोरी, गुमशुदगी की एफआईआर कराने को थाने-चौकी के चक्कर काटना और मुंशी-दीवान से सिफारिश कराना अब पुराना हो गया है। डिजिटल इंडिया के दौर में आम जनता का रुझान ई-एफआईआर की ओर तेजी से बढ़ा है। इस ऑनलाइन सिस्टम ने थानों में चल रही मनमानी बंद कर दी है। अब एफआईआर करवाने के लिए आपको न किसी की सिफारिश की जरूरत है, न किसी से गुहार लगाने या सुविधा शुल्क देने की जरूरत है। सिर्फ एक क्लिक पर कोई भी किसी भी जगह से अपनी एफआईआर, शिकायत या सूचना दर्ज करा सकता है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि ई-एफआईआर बेहद आसान और सामान्य प्रक्रिया है। इसने आम जनता के तमाम झंझट खत्म कर दिए हैं। पहले लूटपाट या चोरी के शिकार या साइबर अपराध के पीडि़तों को थाने जाना पड़ता था। पुलिस उन्हें टरकाती थी। सूचना दर्ज करने के एवज में सुविधा शुल्क मांगती थी। उनका वक्त और पैसा दोनों बर्बाद होता था, लेकिन अब थाना जाने की जरूरत नहीं है। यूपी पुलिस की वेबसाइट और यूपी कॉप एप के माध्यम से घर या ऑफिस में बैठे-बैठे ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। बीते आठ महीने में राजधानी के विभिन्न थानों में 300 से ज्यादा लोगों ने ई-एफआईआर दर्ज कराई है और यह आंकड़ा रोजाना तेजी से बढ़ रहा है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *