देवेगौड़ा बोले हालात इमरजेंसी से भी खराब ,विधायकों को पैसा देकर खरीदा गया

बेंगलुरु, कर्नाटक के चल रहे राजनीतिक गतिरोध पर जेडीएस प्रमुख देवेगौड़ा ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि स्थिति आपातकाल से भी खराब है। 16 विधायकों के इस्तीफे पर देवेगौड़ा ने कहा कि भाजपा किसी भी तरह दक्षिण के राज्य में सत्ता में आना चाहती है। देवेगौड़ा ने कहा, ‘जब से कुमारस्वामी ने कांग्रेस के समर्थन से सीएम पद संभाला है तभी से राज्य के भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा हमारे विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। येदियुरप्पा 2009 से ऑपरेशन कमल चला रहे हैं। हालांकि भाजपा के पास बहुमत नहीं है, तब उन्होंने हमारे 10 विधायकों से इस्तीफा दिलवा दिया।’
भाजपा द्वारा बागी विधायकों को रुपए दिए जाने के सवाल पर देवेगौड़ा ने कहा, हालांकि विधायकों के इस्तीफे पर भाजपा अब तक यही कहती आ रही है कि इसमें उसका कोई हाथ नहीं है और विधायकों ने अपनी इच्छा से ये फैसला किया है। वहीं देवेगौड़ा ने कहा, ‘वह बहुत महत्वपूर्ण समय था जब सभी विपक्षी पार्टियां भाजपा के खिलाफ एकजुट हुई थीं क्योंकि देश को भाजपा से गंभीर खतरा था। मुझे लगता है कि ताजा हालात इमरजेंसी से भी बदतर हैं। डीके शिवकुमार मुंबई के होटल में गए लेकिन उन्हें कमरा बुक होने के बाद भी होटल में घुसने नहीं दिया गया। मैंने अपने 60 साल के राजनीतिक जीवन में ऐसा नहीं देखा।’
जानकारी के मुताबिक देवेगौड़ा ने कहा, ‘सभी राजनीतिक पार्टियों को अपने मतभेद खत्म करना चाहिए और लोकतंत्र को बचाने के लिए साथ आना चाहिए। कांग्रेस नेता शिवकुमार को मुंबई पुलिस द्वारा एयरपोर्ट पर छोड़ने के मुद्दे पर देवगौड़ा ने कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा, ‘यह लोकतंत्र है! यह स्वतंत्रता है! यह स्वच्छ भारत है!’ ज्ञात कि कर्नाटक कांग्रेस के नेता सिद्धारमैया ने घोषणा की थी कि विधायकों की खरीद के मुद्दे पर पार्टी के नेता राज्यस्तरीय आंदोलन करते रहेंगे। उन्होंने बागी विधायकों की निंदा करते हुए कहा था, ‘वे पैसे और सत्ता के लिए गए। उन्होंने खुद को बेच दिया। मैं सभी बागी विधायकों से अपील करता हूं कि वो वापस आ जाएं। खबरों के मुताबिक सिद्धारमैया ने यह भी कहा था, ‘जनता के फैसले का सम्मान करें, नहीं तो वह आपको सबक सिखाएगी।’

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *