बारिश से मुंबई की सड़कें बनी समंदर, लोकल रद्द, फ्लाइट डायवर्ट, स्कूल-ऑफिस बंद, दीवार गिरने से 22 की मौत

मुंबई, मुंबई में बारिश ने अबकी बार सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। मुंबई में जहां तक नजरें जा रही हैं सिर्फ पानी और पानी ही नजर आ रहा है। कई जगह जलजमाव की वजह से शहर में जिंदगी ठहर सी गई है। रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों पर पानी भर जाने के कारण लोगों के लिए परेशानी खड़ी हो गई है। लगातार हो रही बारिश की वजह से पूरा शहर पानी-पानी हो गया है। हर जगह पानी भरा है, जाम लगा है। जिसकी वजह से यातायात पर असर पड़ रहा है। कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है, कुछ के समय में बदलाव किया गया है। बारिश के कारण मुंबई की सड़कें समंदर बन चुकी हैं और रेल की पटरियां डूब चुकी हैं। स्कूलों और घरों में पानी भरा है। शहर के कई हिस्सों में जलभराव के कारण सड़कों से लेकर रेलवे ट्रैक तक पानी के नीचे मानो गायब हो गए हैं। मुंबई की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेनों का संचालन भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। वहीं, विजिबिलिटी कम होने से हवाई सेवा भी प्रभावित है और मुंबई के एयर ट्रैफिक को आसपास के एयरपोर्ट्स पर डायवर्ट करना पड़ा है। आपदा की इस स्थिति में प्रशासन हालात काबू में करने के लिए एक बार फिर जुट गया है। मौसम विभाग की ओर से कहा गया है कि अगले 24 घंटे में कुछ जगहों पर भारी बारिश तो वहीं बाकी हिस्सों में रुक-रुककर बरसात होती रहेगी। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रवक्ता नवाब मलिक के घर में भी पानी घुस गया है। खुद नवाब मलिक ने घर में पानी घुसने की तस्वीरों को सोशल मीडिया पर शेयर किया है। अपनी फेसबुक वॉल पर तस्वीरों को शेयर करते हुए नवाब मलिक ने बीजेपी और शिवसेना के गठबंधन पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा, मुंबई में शिवसेना और बीजेपी ने आखिरकार कर दिखाया। वहीं मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते दीवार गिरने से अब तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि मुंबई में अगले 24 घंटों तक मॉनसून का प्रचंड रूप जारी रहेगा। कुछ स्थानों पर भारी से अत्यंत भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने आसपास के इलाकों ठाणे और पालघर में दो, चार और पांच जुलाई को बेहद भारी बारिश की आशंका जाहिर की है।
लोकल बंद
मध्य रेलमार्ग पर सीएसटी से ठाणे के बीच, पश्चिम रेलमार्ग पर बोरिवली से वसई के बीच और हार्बर लाइन पर सीएसटी से वाशी रोड के बीच ट्रेनें बंद हैं। पालघर, नालासोपारा, शीव और दूसरे स्टेशनों पर रेलवे ट्रैक पानी से लबालब भर गए हैं। भारी बारिश के कारण लोकल ट्रेनें रद्द होने से ठाणे रेलवे स्टेशन पर कई लोग फंसे रहे। ऐसे में इन लोगों के लिए आरपीएफ ने चाय-नाश्ते का इंतजाम किया। रास्ते में फंसीं 8 ट्रेनों के यात्रियों को भी पानी उपलब्ध कराया गया। बारिश को देखते हुए फिलहाल सेंट्रल रेलवे की ट्रेनें हार्बर लाइन पर छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से बांद्रा, वाशी से पनवेल, ट्रांस-हार्बर लाइन पर ठाणे-वाशी पनवेल के बीच, चौथे कॉरिडोर से खारकोपर और मेन लाइन पर ठाणे से कसारा, कर्जत और खोपोली के बीच चलाई जा रही है। पश्चिम रेलवे में भारी बारिश से नालासोपार, विरारा और पालघर में जलभराव के कारण ट्रेन नंबर 12904, 22904, 22928,12962, 12902, 19208, 19218, 22944,12928, 12264, 19424, 12450,19020, 59442, 12298 और 12268 को रोक दिया गया है। चर्चगेट से वसई रोड के बीच ट्रेनें सुचारू रूप से चल रही हैं।
मध्य रेलवे ने रद्द की कुछ मेल ट्रेनें
बारिश के कहर को देखते हुए मध्य रेलवे ने कुछ छोटी और लंबी दूरी की ट्रेनें रद्द कर दी हैं। रेलवे की ओर से करीब आठ मुख्य ट्रेनों को रद्द किया गया है।
एयर ट्रैफिक
मुंबई एयरपोर्ट के एक अधिकारी के मुताबिक बारिश के कारण 54 फ्लाइट्स को मुंबई के आसपास के एयरपोर्ट्स पर डायवर्ट कर दिया गया है। मंगलवार सुबह कोयंबटूर से मुंबई के बीच इंडिगो की फ्लाइट 6इ 5321 को अहमदाबाद डायवर्ट कर दिया गया।
सरकार ने किया छुट्टी का ऐलान
मौसम विभाग की ओर से मंगलवार को भी भारी बारिश जारी रहने की संभावना जताई गई है और इसे देखते हुए सरकार ने 2 जुलाई को मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, पालघर जिले के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल-ऑफिस बंद रखने का फैसला किया। बृहन्मुंबई म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) की ओर से कहा गया है कि आज (2 जुलाई) सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल बंद रहेंगे। इसके साथ ही सभी सरकारी और प्राइवेट ऑफिसों को भी बंद रहेंगे। उधर मुंबई पुलिस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, ‘मुंबई और आसपास के इलाके में मौसम विभाग के मुताबिक अगले तीन दिनों तक भारी बारिश होने की संभावना जताई गई है। हम मुंबईवासियों से अपने दिन की प्लानिंग करने से पहले मौसम के अपडेट्स चेक करने की सलाह देते हैं। अपना ध्यान रखें और सुरक्षित रहें।’
एयरपोर्ट के आसपास की सभी सड़कें जलमग्न
मुंबई में लगातार तेज बारिश के चलते वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर पानी भर गया है। इसके चलते मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचना काफी मुश्किल हो गया है। मुंबई एयरपोर्ट के आसपास की करीब सभी सड़कों पर फुटपाथ से ऊपर तक पानी भर गया है। इतना ही नहीं एयरपोर्ट के इर्द-गिर्द कई सड़कों पर बने गड्ढे ड्राइवरों के लिए एक बुरा सपना बने हुए हैं। एयरपोर्ट पर जाते कुछ लोगों ने अपने वीडियो ट्विटर पोस्ट किए हैं। इनमें साफ देखा जा सकता है कि लोगों को अपनी फ्लाइट पकड़ने में कितनी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। सड़क पर तीन से चार फीट तक पानी भरा हुआ है। हाईवे पर जगह-जगह गड्ढे भी हैं। पानी भर जाने के बाद उनके बारे में अंदाजा लगाना नामुमकिन है। ऐसे में अपने फ्लाइट के लिए एयरपोर्ट जा रहे लोग अपनी जान पर खेलकर मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंच रहे हैं।
दीवार गिरने से 22 लोगों की मौत
सोमवार रात तीन जगह दीवारें गिरी हैं। इन तीनों घटनाओं में 22 लोगों की मौत हुई है। दीवार गिरने की घटना मुंबई के मलाड ईस्ट, कल्याण और पुणे में हुई है। मलाड ईस्ट में 12 लोगों की मौत की खबर है, जबकि कल्याण में 3 लोग दीवार की चपेट में आकर मारे गए हैं, पुणे में सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से 6 लोगों की मौत हुई है। ये घटनाएं आधी रात के आस-पास की हैं। इन हादसों में मरने वाले लोगों के परिजनों के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 5-5 लाख के मुआवजे का ऐलान किया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *