चुनाव आयोग ने बंगाल में रैली और सभाओं पर समय से 20 घंटे पहले ही रोक लगाईं

नई दिल्ली, पश्चिम बंगाल बंगाल में अमित शाह के रोड शो सहित अन्य जगह हिंसक घटनाओं के चलते रैली और सभाओं पर चुनाव की तरफ से रोक लगा दी गई है. चुनाव आयोग की एक प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी गई है. यह फैसला 16 मई से प्रभावी होगा. बंगाल की बची हुयी 9 लोकसभा सीटों पर कल रात 10 बजे के बाद से चुनाव प्रचार पर रोक लग जाएगी. ऐसा पहली बार हुआ है कि प्रचार की समय सीमा खत्म होने से लगभग 20 घंटे पहले ही चुनाव आयोग ने वहां की स्थिति को देखते हुए यह फैसला लिया है.
ज्ञात रहे कि मंगलवार को कोलकाता के विद्यासागर कॉलेज के सामने अमित शाह के रोड शो पर पत्थरबाजी हुई थी। आरोप है कि इसके बाद कुछ भाजपा समर्थकों ने 2 मोटरसाइकलों और एक साइकल में आग लगा दी। हालांकि भाजपा ने इसके लिए तृणमूल को जिम्मेदार ठहराया। शाह ने बुधवार को दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि उनके कार्यकर्ता अपनी ही गाड़ियां क्यों जलाते। इस अग्निकांड के बाद मंगलवार देर शाम हिंसा और तेजी से भड़की और पुलिस को हालात संभालने में पसीने छूट गए। भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प शुरू हो गई।
हालात तब और खराब हो गए जब टीएमसी के कुछ समर्थक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर झंडों के डंडे और बोतल फेंकने लगे। सुरक्षा कर्मियों ने अमित शाह को बचाया। भाजपा अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं को शांत कराने का प्रयास किया। विद्यासागर कॉलेज पास भाजपा और तृणमूल छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प के दौरान समाज सुधारक ईश्वर चंद विद्यासागर की प्रतिमा टूट गई। इसके लिए भाजपा और टीएमसी एक दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। करीब सवा 7 बजे पुलिस हालात को संभाल पाई।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *